मध्यप्रदेशसियासतस्लाइडर

अब एमपी की बारी ! आखिर CM शिवराज के सामने ही शाह ने क्यों की इस नेता की तारीफ, क्या मुख्यमंत्री बदलने की है तैयारी ?

जबलपुर। कर्नाटक और उत्तराखंड के बाद गुजरात का सीएम बदलकर बीजेपी ने साफ कर दिया है कि बेहतर परफॉर्मेंस नहीं करने वालों को साइडलाइन करने से पार्टी को कोई गुरेज नहीं है, यही बात आजकल शिवराज सिंह चौहान की भी नींद में खलल डाल रही है. भले ही एमपी में शिवराज के कद का कोई पार्टी लीडर नहीं है, फिर भी शिवराज को ये चिंता सता रही है. इन सबसे कयास लगाए जा रहें कि क्या अब एमपी में भी सीएम बदलने की तैयारी चल रही है.

इसे भी पढ़ें: BIG BREAKING: पंजाब की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी CM बदलने की सुगबुगाहट तेज, बढ़ाई गई सिंहदेव की सुरक्षा !

गोंडवाना साम्राज्य के अमर शहीद शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने जबलपुर सांसद राकेश सिंह की तारीफ सीएम (Amit Shah Praised Rakesh Singh) के ही सामने कर दी थी, जिसके बाद से ही शिवराज सिंह की बेचैनी बढ़ी हुई है.

इसे भी पढ़ें: कर्ज तले शिवराज सरकार: इसकी खरीदी से कर्जदार हुआ मध्य प्रदेश, 68 हजार करोड़ के कर्ज पर हर रोज लगता है 14 करोड़ ब्याज !

दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार 18 सितंबर को जबलपुर में गोंडवाना साम्राज्य के अमर शहीद शंकर शाह और रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे, इसी कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व जबलपुर सांसद राकेश सिंह की तारीफ (Amit Shah Praised Rakesh Singh) कर दी, वो भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के ही सामने, बस यही बात शिवराज सिंह को अखरने लगी और शाह के जाते ही वे प्रशासनिक घोड़ों की लगाम कसने लगे. इसके लिए ताबड़तोड़ बैठकें भी की, जबकि शाह के दौरे से पहले ही शिवराज बेहद एक्टिव हो गए थे, जब निवाड़ी में मंच से ही उन्होंने तहसीलदार को सस्पेंड करने का एलान कर दिया था.

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में सियासी पारा हाई: स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव फिर अचानक दिल्ली रवाना, राजनीतिक कयासों के बीच कह दी ये बड़ी बात

सीएम शिवराज राज्य के अधिकारियों को लगातार यह याद दिला रहे हैं कि मध्य प्रदेश ‘गुड गवर्नेंस’ मॉडल के तौर पर स्थापित हो, अमित शाह 18 सितंबर को जबलपुर पहुंचे थे, इसके एक दिन बाद ही शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल मंगुभाई पटेल से मुलाकात भी की थी, इस मुलाकात को कांग्रेसी नेताओं ने ‘असामान्य’ तक बता दिया था.

इसे भी पढ़ें: BIG BREAKING: BJP के इस बड़े नेता का निधन, 1 महीने से चल रहा था लिवर का इलाज, बीजेपी ने 2 दिन में 2 बड़े सियासी चेहरे खोए

हालांकि, मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बैठक राज्य में विकास संबंधी योजनाओं पर चर्चा के लिए की गई थी. अमित शाह शहर के गैरिसन मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद सांसद राकेश सिंह के निवास सिविल लाइन पहुंचे थे, जहां भाजपा विधायकों ने उनका स्वागत किया था, इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे. इस मुलाकात को लेकर कांग्रेस ने ट्वीट भी किया था.

कार्यक्रम के मध्य दोपहर के वक्त एक घण्टे का समय खाने के लिए आरक्षित रखा गया था, बताया जा रहा है कि अमित शाह सांसद राकेश सिंह के घर भोजन किये और कुछ देर आराम करने के बाद उज्ज्वला योजना के तहत होने वाले कार्यक्रम में शामिल हुए. राकेश सिंह ने अपने आवास पर अमित शाह सभी विधायकों को मिलवाया भी था. बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान शाह ने राकेश सिंह की तारीफ करते हुए कहा था कि जिनके निमंत्रण पर मैं यहां आया हूं और जो सही मायने में नेतृत्व कर रहे हैं, हमारे राकेश सिंह जी हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button