छत्तीसगढ़सियासतस्लाइडर

BIG BREAKING: पंजाब की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी CM बदलने की सुगबुगाहट तेज, बढ़ाई गई सिंहदेव की सुरक्षा !

रायपुर: पंजाब में सियासी घटनाक्रम तेजी से बदला और सीएम पद से मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर ( Amarinder Singh resigns) सिंह ने इस्तीफा दे दिया है. शाम 4.30 बजे चंडीगढ़ राजभवन में सीएम अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया. यहां बीते कई महीनों से सीएम पद को लेकर कांग्रेस में घमासान जारी था. एक तरफ नवजोत सिंह सिद्दू (Navjot Singh Sidhu) की बगावत थी. तो दूसरी तरफ कैप्टन का गुट अपनी जिद पर अड़ा था. इन दोनों के बीच जुबानी जंग भी लगातार हो रही थी.

इस बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीएम पद से रिजाइन कर दिया. पंजाब में घटित इस घटना के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी सीएम बदलने की सुगबुगाहट तेज हो गई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि, पंजाब की तर्ज पर छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh on the lines of Punjab) में भी मुख्यमंत्री से हाईकमान इस्तीफे की पेशकश कर सकता है. संभावना जताई जा रही है कि पंजाब में यदि मुख्यमंत्री के बदलने की प्रक्रिया सफल रही और सब कुछ शांति से निपट गया तो उसी प्रक्रिया के तहत छत्तीसगढ़ में भी बदलाव (change in chhattisgarh) किया जा सकता है.

सिंहदेव की बढ़ाई गई सुरक्षा !

चर्चा तो यह भी है कि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव (Health Minister TS Singh Deo) की सुरक्षा बढ़ाए जाने के आदेश आए हैं. यह आदेश छत्तीसगढ़ सरकार से नहीं बल्कि दिल्ली से आया है लेकिन इस आदेश की पुष्टि अब तक किसी ने नहीं की है. कयास को इस बात से भी बल मिलता है कि पिछले 2 दिनों से छत्तीसगढ़ में 27 विधायकों के एक साथ एक होटल में रुकने की चर्चा जोरों पर थी. लेकिन यह पता नहीं चल सका कि वे 27 विधायक कौन थे और किस होटल में एक साथ रुके हुए थे.हालांकि इस बारे में जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि विधायकों के होटल में रुकने जानकारी से साफ इंकार किया.

लेकिन जिस तरह से आज पंजाब में राजनीतिक उथल-पुथल के बीच एक बड़ा बदलाव हो रहा है. उसे देखते हुए अब छत्तीसगढ़ में भी इस तरह के बदलाव की संभावना व्यक्त की जा रही है. हालांकि पार्टी की ओर से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को बदलने को लेकर अब तक कोई बयान नहीं दिया गया है. लेकिन जिस तरह से पंजाब के हालात बने हैं, उसे देखते हुए छत्तीसगढ़ में भी कयासों का दौर शुरू हो गया है. बहरहाल इन प्रयासों के बीच हकीकत क्या है. उसका पता तो आने वाले समय में ही चलेगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button