धर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

Ramayan Circuit Train: वेटर्स की भगवा ड्रेस पर विवाद, संतों ने दी ट्रेन रोकने की धमकी, IRCTC ने उठाया ये कदम

उज्जैन. धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में शुरू की गई रामायण सर्किट ट्रेन (Ramayan Circuit Train) पर उठा विवाद फिलहाल थम गया है. विवाद (Controversy) संतों की वेशभूषा को लेकर था. ट्रेन के सर्विस स्टाफ की ड्रेस संतों की तरह थी. संतों को इसी बात पर एतराज था. उनके एतराज के बाद IRCTC ने अपने सर्विस स्टाफ की ड्रेस बदल दी है.

राजेन्द्रग्राम ब्रेकिंग न्यूज: कोरोना वैक्सीनेशन में लापरवाही बरतने वाले सचिव निलंबित, और सचिवों पर भी गिर सकती है गाज, पंचायत में अव्यवस्था का अंबार

भारतीय रेलवे ने भगवान राम से जुड़े धार्मिक स्थानों की सैर के लिए राम सर्किट रामायण एक्सप्रेस ट्रेन शुरू की है. ये अयोध्या से शुरू होकर रामेश्वरम तक जाएगी. धार्मिक यात्रा से जुड़ी इस ट्रेन में श्रद्धालुओं को खाना ट्रेन के अंदर ही सर्व किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल (Video Viral) हो रहा था. इसमें ट्रेन का सर्विस स्टाफ संतों की वेशभूषा पहने यात्रियों को खाना परोस रहा था. संतों ने एतराज जताया तो IRCTC ने तत्काल अपने सर्विस स्टाफ की ड्रेस बदल दी.

शानदार पुष्पराजगढ़ SDM साहब ! पत्थरों की दूसरे राज्य में तस्करी करते 3 डंफर जब्त, लीज कहीं का और खदान कहीं और, रोजाना धरती का सीना चीर रहे क्रेशर, इन पर कब पड़ेगी आपकी नजर ?

ट्रेन रोकने की धमकी
संतों ने इस वीडियो में दिख रहे वेटर्स की वेश भूषा पर सवाल खड़े किये. परमहंस अखाड़ा परिषद के पूर्व महामंत्री अवधेश पुरी ने आपत्ति लेते हुए कहा था कि संतों की वेश भूषा वेटरों को पहनाई गयी है जो साधु समाज का अपमान है. जल्द ही इसकी वेशभूषा को बदला जाए वरना 12 दिसंबर को निकलने वाली ट्रेन का संत समाज विरोध करेगा. ट्रेन के सामने हिंदू समाज के हजारों लोग प्रदर्शन करेंगे. वीडियो सामने आने के बाद हमने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को पत्र लिखा है. रेलवे ने करोड़ों हिन्दुओं की आस्था को ठेस पहुंचायी है.

पुष्पराजगढ़ में मलाईदार कुर्सी: ट्रांसफर के ढाई महीने बाद भी डटे हैं साहब, जुगाड़ से रोकी रिलीविंग, कमाई का जरिया बना अनूपपुर जिला ?

IRCTC ने बदली ड्रेस
संतों के एतराज के बाद रामायण सर्किट ट्रेन के सर्विस स्टाफ की ड्रेस बदल दी गयी है. IRCTC ने इसकी जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर दी है.

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button