देश - विदेशस्लाइडर

रिश्तों का बॉन्ड: गर्लफ्रेंड ने अपने बॉयफ्रेंड के सामने रखा 17 पेज का रिलेशनशिप कॉन्ट्रैक्ट, शर्तें जान आप भी हो जाएंगे हैरान!

दिल्ली। कहते हैं कि जोड़ियां (Relationship) ऊपरवाला बनाता है. मगर आज कल लोग रिश्तों को कॉन्ट्रैक्ट (Contract) की तरह अपनाने लगे हैं. आप शायद ये सोचकर हैरान हो रहे होंगे कि रिश्ते कैसे कॉन्ट्रैक्ट की तरह ट्रीट किए जा सकते हैं, मगर हाल ही में एक गर्लफ्रेंड ने अपने बॉयफ्रेंड के साथ रिलेशनशिप में आने से पहले ही उसे अपनी डिमांड्स (Demand of Girlfriend) की लंबी लिस्ट पकड़ा दी.ये कोई ऐसी-वैसी लिस्ट नहीं, ये एक रिलेशनशिप कॉन्ट्रैक्ट (Relationship Contract) है, जो उन दोनों को एक रिश्ते में बांधने का काम कर रहा है.

चलिए आपको बताते हैं कि आखिर ये पूरा मामला है क्या. दरअसल, 21 साल की एनी राइट (Annie Wright) कुछ वक्त पहले ही एक टॉक्सिक रिलेशनशिप (Toxic Relationship) में थीं. जब वो उससे बाहर आईं तो वो फिर से रिलेशनशिप में आने से डर रही थीं. इस बीच पिछले साल अक्टूबर के महीने में उनकी मुलाकात 23 साल के माइकल हेड (Michael Head) से टिंडर पर हुई.

एनी चाहती थीं कि माइकल से उनका रिश्ता उनके पिछले रिलेशनशिप की तुलना में अच्छा चले. इस वजह से उन्होंने एक 17 पेज का रिलेशनशिप कॉन्ट्रैक्ट माइकल को दिया. इस लंबे कॉन्ट्रैक्ट में एनी ने लिखा कि जब भी लोग डेट पर जाएं तब माइकल उसका पैसा दे, महीने में दो बार उसे फूल गिफ्ट करे और हफ्ते में 5 बार वर्कआउट करे.

पानी में लगाई अदाओं की आग: स्विमिंग पूल में लहराई ‘नागिन’ एक्ट्रेस सुरभि चंदना, तस्वीरें देख छूट रहा पसीना

एनी ने बताया कि उन दोनों ने तय किया वो अपने रिश्ते को टर्म्स और कंडीशन में बांधेंगे. रिस्क मैनेजमेंट की स्टूडेंट एनी और लॉ स्टूडेंट माइकल ने रिलेशनशिप के लिए अपने नियम बनाए. एनी ने बताया कि उनका रिश्ता एक बिजनेस मीटिंग की तरह है. वो रिश्तों में आने वाली समस्याओं को उसी प्रकार हल करते हैं जैसे बिजनेस के क्षेत्र में पार्टनर्स अपने मसले सुलझाते हैं.

एनी ने बताया कि माइकल उसके लिए अक्सर फूल लेकर आते हैं. इस कॉन्ट्रैक्ट की सबसे बड़ी बात ये है कि दोनों कभी भी एक दूसरे को दोष नहीं देंगे. आधी समस्या एनी की वजह से हो सकती है और आधी माइकल की वजह से. किसी एक की वजह से दोनों समस्याएं नहीं हो सकती हैं. यही नहीं, ये कपल साल के अंत में एक सालाना मीटिंग भी करता है जिसमें ये तय करता है कि उनका एक साल कैसा बीता. फिर वो रिश्तों में सुधार भी करते हैं जिससे सब कुछ बेहतर चलता रहे.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button