जुर्मनई दिल्लीस्लाइडर

बंदर ले रहे खून का बदला खून से ! एक-एक कर मार दिए 250 कुत्ते, अब इंसान के बच्चे निशाने पर, जानिए क्यों खूनी खेल-खेल रहे सनकी बंदर

बीड. महाराष्ट्र के बीड जिले में बंदरों से बदला लेने का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां पिछले महीने कुत्तों ने एक बंदर के बच्चे को मार डाला था. इसके बाद बंदरों ने बदला लेने के लिए कुत्तों के बच्चों को मारना शुरू कर दिया. पिछले एक महीने में बंदरों ने करीब 250 कुत्तों को ऊंचाई से फेंक कर मार डाला है. अब वे इंसान के छोटे बच्चों पर भी हमला करने लगे हैं.

MP पंचायत चुनाव 2021: निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला, तय समय पर होंगे चुनाव, इनकी परेशानी अब भी बरकरार

मामला बीड जिले के मजलगांव का है. पिछले एक महीने से बंदरों ने यहां दहशत का माहौल बना रखा है. जब वे कुत्ते के किसी बच्चे को देखते हैं तो उसे उठा लेते हैं और फिर किसी ऊंचे स्थान से नीचे फेंक देते हैं. बताया जा रहा है कि बंदरों ने पिछले एक महीने में कुत्तों के करीब 250 बच्चों को इस तरह से मार डाला है.

MP पंचायत चुनाव बड़ी खबर: पंचायत चुनाव 2021 नहीं होंगे निरस्त, चुनाव आयोग ने लिया ये बड़ा फैसला

लावूल गांव मजलगांव से लगभग 10 किमी दूर स्थित है. करीब पांच हजार की आबादी वाले इस गांव में अब कुत्ते का कोई बच्चा नहीं दिखता. बंदरों को पकड़ने के लिए ग्रामीणों ने वन विभाग का दरवाजा भी खटखटाया था. वन विभाग के कर्मचारी आए, लेकिन वे एक भी बंदर को पकड़ने में नाकाम रहे.

राजेंद्रग्राम मर्डर ब्रेकिंग: बेरहम पति ने बेरहमी से घोंट दिया पत्नी की गला, इलाके में फैली सनसनी, मौका-ए-वारदात पर पुलिस

बंदरों का बदला!

ग्रामीणों का कहना है कि बंदर ऐसा बदला लेने के लिए कर रहे हैं. उनका कहना है कि इसकी शुरुआत कुत्तों के एक बंदर के बच्चे को मारने से शुरू हुई थी. इसके बाद ही बंदरों ने चुन-चुनकर कुत्तों के पिल्लों को उठाना शुरू कर दिया. वह इन पिल्लों को ऊंची इमारत या पेड़ पर लेकर जाते हैं और वहां से नीचे फेंक देते हैं.

किसान को पीट-पीट कर मार डाला: घर से एक किमी दूर मिली नग्न लाश, पास पड़े मिले टूटे डंडे, फिंगर प्रिंट खोलेगा कत्ल का राज

वन विभाग की नाकामी के बाद बंदरों के आतंक के चलते ग्रामीणों ने कुत्तों को बचाने के लिए अपने स्तर पर प्रयास किए. लेकिन, ऐसा करना उनके लिए जानलेवा साबित हो रहा है. ऊंचाई वाली इमारत पर पहुंचने के बाद बंदर उन पर भी हमला कर रहे हैं. इस वजह से बंदरों के हमले और कुछ ऊंचाई से नीचे गिरने की वजह से घायल हो गए.

बंदरों ने पिछले एक महीने में गांव में अधिकांश कुत्तों के पिल्लों को मार डाला है. अब गांव में नहीं के बराबर पिल्ले बच्चे हैं. ऐसे में अब बंदरों ने बच्चों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है. खासतौर पर स्कूल जाने वाले बच्चों पर इस तरह के हमले हो रहे हैं. इसके चलते पूरे गांव में दहशत है.

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button