जुर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

MP में प्यार की दर्दनाक दास्तां: ‘मेरी जिंदगी भी चींटी की तरह हो गई है, अब जान दे रहा हूं…’ और फिर…

भोपाल. ‘चींटी के मरने से किसी को फर्क नहीं पड़ता. मेरी जिंदगी भी चींटी की तरह हो गई है. जिसे चाहा वह नहीं मिला, अब जान दे रहा हूं…’ सुसाइड नोट में यह बात लिखकर 18 साल के लड़के ने फांसी लगा ली.

इसे भी पढ़ें: MP में कातिल बाप: पिता ने चुनरी से घोंट डाला 17 साल की बेटी का गला, सहन नहीं कर सका उसकी यह हरकत…

मामला मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) के आनंद नगर का है. पुलिस ने शव जब्त कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. पुलिस को मामला लव अफेयर का लग रहा है. आत्महत्या के दिन लड़के के पिता लगातार उसे फोन करते रहे, लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुआ, तब जाकर घटना का पता चला.

इसे भी पढ़ें: MP में साधू की समाधि लीला ! गाजे-बाजे के साथ समाधि ले रहे थे 105 साल के पप्पड़ बाबा, फिर पुलिस ने किया ये काम

पुलिस के मुताबिक, 18 साल का दुष्यंत पिता राधा कृष्ण तिवारी पन्ना का रहने वाला था. उसकी पढ़ाई विदिशा के सम्राट अशोक प्रौद्यौगिकी संस्थान (SATI) से चल रही थी. वह इंजीनियरिंग सेकंड ईयर में था.

इसे भी पढ़ें: MP में कातिल बाप: पिता ने चुनरी से घोंट डाला 17 साल की बेटी का गला, सहन नहीं कर सका उसकी यह हरकत…

मृतक के पिता राधा कृष्ण​​​​​​ भोपाल के टीआईटी कॉलेज में सुपरवाइजर के पद पर हैं. वे पन्ना में सिविल वर्क की ठेकेदारी भी करते हैं. कॉलेज प्रबंधन ने उन्हें कॉलेज परिसर में ही सर्वेंट क्वार्टर दिया हुआ है. पुलिस के मुताबिक राधा कृष्ण पत्नी के साथ हफ्तेभर से पन्ना में थे. मृतक का भाई भी घटना के वक्त घर पर नहीं था.

इसे भी पढ़ें: मौत का खौफनाक सफर: माता रानी के दरबार से दर्शन कर 8 श्रद्धालु लौट रहे थे घर, सड़क हादसे में 3 की मौत…

पुलिस ने बताया कि पिता ने दुष्यंत को शुक्रवार सुबह फोन लगाया, लेकिन फोन रिसीव नहीं हुआ. वे रोज सुबह उससे हाल-चाल पूछते थे. पिता दुष्यंत को शाम तक लगातार फोन लगाते रहे, लेकिन बेटे ने फोन नहीं उठाया.

इस पर उन्होंने एक परिचित से कहा कि घर देख आओ. परिचित जब घर पहुंचा तो उसे कमरे का गेट अंदर से बंद मिला. उसने खिड़की से झांका तो उसके होश उड़ गए. दुष्यंत फंदे पर लटक रहा था. उन्होंने तुरंत पुलिस को घटना की सूचना दी.

पुलिस को इस बात पर शक
पुलिस को शक है कि ये मामला प्रेम प्रसंग का है. क्योंकि मृतक ने सुसाइड नोट में लिखा है -‘चींटी के मरने से किसी को फर्क नहीं पड़ता. मेरी जिंदगी भी चींटी की तरह हो गई है. जिसे चाहा वह नहीं मिला, अब जान दे रहा हूं…’

पुलिस का मानना है कि इस तरह के वाक्य प्रेम में असफल व्यक्ति  ही लिख सकता है. पुलिस ने दुष्यंत का मोबाइल भी जब्त कर लिया है. उसकी पूरी तरह से जांच की जाएगी.

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

छत्तीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button