जुर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

MP में दोस्ती का कत्ल: इस वजह से बने जानी दुश्मन, दोस्तों ने मिलकर दोस्त को उतारा मौत के घाट, जानिए खौफनाक कहानी की अंत…

देवास। 18 सितंबर को बागली थाना क्षेत्र के कोठड़ा गांव निवासी हरि सिंह का शव पुलिस को मिला था, जिसके बाद से शुरू हुई पुलिस की जांच 48 घंटे के अंदर ही अंजाम तक पहुंच गई और सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर उन्हें कोर्ट में पेश की, जहां से कोर्ट ने आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया. शराब पीने के दौरान हुए मामूली विवाद में युवक की हत्या उसके ही दो दोस्तों ने कर दी थी.

बागली एसडीओपी राकेश व्यास ने बताया कि आरोपी 17 सितंबर की शाम मृतक हरि सिंह पिता बन्ने सिंह को उसके घर से बुलाकर ले गया था, इसके बाद वह गांव के समीप ही एक अन्य साथी के साथ बैठकर शराब पी रहे थे. इसी दौरान मुख्य आरोपी संजय कोरकू व मृतक हरि सिंह के बीच विवाद हो गया. दोनों के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि आरोपी संजय ने आवेश में आकर हरी सिंह की हत्या ही कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी संजय व एक अन्य साथी रामकरण अपने घर चले गए.

हत्या के अगले दिन सुबह शव मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शिनाख्त के बाद मृतक की पत्नी से पूछताछ की गई तो उसने आरोपियों के साथ 17 सितंबर की शाम को शराब पीने के लिए साथ में जाना बताया था, उसी के आधार पर आरोपी से पूछताछ की गई तो उसने हरि सिंह की हत्या करना कबूल किया.

हत्या का मुख्य कारण शराब बताया जा रहा है, जिसकी वजह से मामूली विवाद में दोस्तों ने ही अपने दोस्त की हत्या कर दी. पुलिस ने मुख्य आरोपी संजय व सहयोगी रामकरण को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया.

बागली एसडीओपी राकेश व्यास ने बताया कि मामले में जांच कर रही पुलिस 48 घंटे के अंदर ही हत्या की गुत्थी सुलझाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया, शराब पीने के दौरान हुए मामूली विवाद के बाद युवक की हत्या उसके ही दो दोस्तों ने कर दी थी.

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

छत्तीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button