छत्तीसगढ़सियासतस्लाइडर

गिरफ्तारी या VIP खातिरदारी: CM भूपेश के पिता नंदकुमार बघेल ने गिरफ्तारी के बाद इंस्पेक्टर की टेबल पर खाया खाना, अब ये क्या बोल रहे यूजर्स ?

रायपुर। यदि किसी ने कोई अपराध किया है, तो पुलिस उसे अपराधी की नजरिए से ही देखती है. लेकिन कई मर्तबा VIP लोग भी क्राइम कर बैठते हैं, जिन्हें पुलिस किस तरह VIP ट्रीटमेंट देती है, आपने बखूबी फिल्मों में देखा होगा. लेकिन आज हम आपको रियल स्टोरी से रू-ब-रू कराएंगे. खबर क्लिक करने से पहले और उसके बाद में आपने जो तस्वीर देखी है, वो तस्वीर कोई आम तस्वीर नहीं है. फोटो में दिख रहे शख्स छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल हैं. इनके खिलाफ रायपुर के डीडी नगर थाने में FIR दर्ज की गई है. यह जुर्म इसलिए दर्ज किया गया है, क्योंकि नंदकुमार बघेल ने ब्राह्मणों को लेकर विवादित बयान दिया था.

दरअसल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल को गिरफ्तारी के बाद थाने लाया गया था, जहां थाना प्रभारी के ही टेबल पर उन्हें बैठाकर बकायदा खाना खिलाया गया. जब गिरफ्तारी के बाद यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तो यूजर्स तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं. सोशल साइड्स पर अपनी प्रतिक्रिया भी जाहिर कर रहे हैं. कोई अच्छा लिख रहा है, तो कोई बुरा लिख रहा है.

यूजर्स का कहना है कि मुख्यमंत्री के पिता होने के चलते उनकी ऐसी आवभगत की जा रही है. वहीं यूजर्स के दूसरे तबके का कहना है कि सभी प्रदेशों की पुलिस को ऐसा ही व्यवहार करना चाहिए, क्योंकि आरोप साबित होने तक कोई दोषी नहीं होता.

कुछ यूजर्स कह रहे हैं कि यह सब दिखावा है. क्या आम कैदी के साथ ऐसा व्यवहार देखने को मिलता है ? इसका क्या मतलब निकाला जाए ? गिरफ्तारी नहीं, गिरफ्तारी का नाटक है यह सब. ब्राह्मणों को बेवकूफ बनाने के लिये नाटक हो रहा है.

इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा था कि हमारे राजनीतिक विचार और मान्यताएं भी बिल्कुल अलग-अलग हैं. एक पुत्र के रूप में मैं उनका सम्मान करता हूं, लेकिन एक मुख्यमंत्री के रूप में उनकी किसी भी ऐसी गलती को माफ नहीं किया जा सकता, जो सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने वाली हो. उनकी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है फिर चाहे वो मुख्यमंत्री के 86 साल के पिता ही क्यों न हो.

बता दें कि बीते महीने सामाजिक कार्यकर्ता नंद कुमार बघेल UP के दौरे पर गए हुए थे. इस दौरान लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बघेल ने कहा था कि जिसका वोट, उसी की सरकार. उन्होंने आगे बताया कि ब्राह्मण विदेशी हैं, जिस तरह अंग्रेज यहां से गए, वो भी यहां से जाएंगे. ब्राह्मण सुधर जाएं, या तो जाने के लिए तैयार रहें. उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों से इसलिए नाराजगी है, कि वह विदेशी हैं. हमारे सारे अधिकार छीन रहे हैं. बघेल ने कहा था कि गांवों में भी अभियान चलाकर उनका बहिष्कार करेंगे.

सीएम बघेल के पिता नंदकुमार बघेल पर एक वर्ग विशेष के खिलाफ कथित विवादित बयान पर FIR दर्ज कर ली गई है. जहां रायपुर डीडी नगर थाने में पुलिस ने आईपीसी की धारा 505 और 153 (क) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. अब नंदकुमार बघेल को गिरफ्तार कर 14 दिनों के लिए न्यायिक रिमांड में जेल भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- India vs England 4th Test: टीम इंडिया को 50 साल बाद मिली जीत, इंग्लैंड को सीरीज के चौथे मैच में 157 रनों से हराया 

इसे भी पढ़ें- बूस्टर शॉट: भारत में नागरिकों को Corona Vaccine की दूसरी डोज नहीं लग पाई, इधर एक्सपर्ट ने चौथी डोज की बता दी जरूरत 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button