मध्यप्रदेशसियासतस्लाइडर

किरर, मरम्मत और ज्ञापनों की बाढ़: सांसद, विधायक चिट्ठी और ज्ञापन से रख रहे किरर घाट की नींव, यात्री बने ‘ATM मशीन’, MLA ने लगाए कलेक्टर पर ये आरोप

पुष्पराजगढ़: विकास की इबारत लिखने के लिए सांसद, विधायक और अन्य नेताओं को स्थानीय जनता वोट देकर सियासी कुर्सी पर बैठाती है, ताकि वे आम जन की समस्याओं का निदान कर सकें, लेकिन जनता को गुमराह करने के लिए हर कोई बस ज्ञापन और चिट्ठी ही लिखने में मशगूल है. जनता की परेशानी कम नहीं हो रही और बस संचालक मलाई छान रहे हैं. किरर घाट को टूटे 2-3 महीने बीतने को है, लेकिन काम कछुए की चाल पर जारी है, जिससे यात्रियों को भारी भरकम रकम चुका कर जिला मुख्यालय जाना पड़ रहा है.

हाल ही में शहडोल सांसद हिमाद्री सिंह ने रीवा अमरकंटक मार्ग के संबंध में केन्दीय सड़क परिवहन एवं राज्यमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर राज्यमार्ग घोषित करने की मांग की थी, जिससे आम जन का भला हो सके. अब सवाल ये उठता है कि जो सड़क 3 महीने से टूटी पड़ी है, उसको लेकर कोई पहल नहीं किया जा रहा है, जिससे लोगों को परेशानी कम नहीं ही रही है. क्या केंद्र में सांसद महोदया की बातें नहीं सुनी जा रही है या कोई और वजह है जो इनके इलाके में विकास खुद की बदहाली का आंसू बहा रहा है.

MP-CG टाइम्स से बातचीत के दौरान विधायक फुंददेलाल सिंह मार्को ने कहा कि टेंडर जारी हो गया है, ठेकेदारों को पैसा मिल गया है, बावजूद इसके सड़क निर्माण नहीं कराया जा रहा है. कलेक्टर और SDM को कई मर्तबा ज्ञापन सौंप चुके, लेकिन ध्यान नहीं दिया जा रहा है. कलेक्टर सोनिया मीना बारिश का हवाला दे रही हैं, जबकि सांसद महोदया हिमाद्री सिंह भी ध्यान नहीं दे रही हैं, जिससे लोगों को परेशानी हो रही है. राज्य से लेकर केंद्र में भी बीजेपी की सरकार है, बावजूद इसके हिमाद्री सिंह अपनी बात रखने में सक्षम नहीं है. उन्होंने ने कहा कि आने वाले समय में बड़ा धरना प्रदर्शन करेंगे.

इधर फिर से पुष्पराजगढ़ SDM (IAS) अभिषेक चौधरी को जिला कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष ने किरर घाट और अन्य सड़कों को लेकर ज्ञापन सौंपा है. पटना करपा-सरई मार्ग का कार्य प्रारम्भ किये जाने और किरर घाट के कार्य में गति प्रदान करने की चेतावनी दी है.

संतोष पांडेय ने कहा कि 5 बिंदुओं मुताबिक कार्रवाई नहीं कि गयी तो वे जिला कांग्रेस के अध्यक्ष और पुष्पराजगढ़ विधायक फुंदेलाल मार्को के नेतृत्व में पुष्पराजगढ़ के चारों ब्लॉक अध्यक्षों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धरना प्रदर्शन करेंगे.

बता दें कि विगत कई वर्षों से ग्राम पंचायत पटना(लांघाटोला) से करपा-सरई मार्ग पूर्णतः गड्ढे के रूप में तब्दील हो चुका है. एम.पी.आर.डी.सी. द्वारा निविदा मंगाने और स्वीकृत निविदा के बाद भी सम्बंधित जनों द्वारा कार्य प्रारम्भ न करने के कारण पुष्पराजगढ़ के दूरांचल क्षेत्रों के आमजनों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

​वहीं बीते 8 जुलाई 2021 को भारी वर्षा के कारण मिडवे ट्रीट के पीछे बने तालाब में पानी भराव के चलते तालाब फूट जाने से रीवा-अमरकंटक रोड में पड़ने वाला किरर घाट तीन जगहों से धसक गया, जिसके चलते रीवा-अमरकंटक मार्ग से वाहनों और आमजनों के आवागमन के लिए कलेक्टर अनूपपुर द्वारा पूर्णतः रूप से प्रतिबंधित किया जा चुका है.

किरर घाट मार्ग प्रतिबंधित होने के कारण यात्री वाहन और मालवाहक वाहन जैतहरी होकर बयहार-गिरवी घाट से घूमकर आते हैं जिन्हे अधिकतम किराया देकर आमजन राजेंद्रग्राम-अमरकंटक की ओर पहुँच पाते हैं. वहीं मालवाहक वाहनों से निर्माण कार्य के उपयोग के लिए मंगाई जा रही सामग्री दोगुने राशि पर प्राप्त हो रही है. पूर्व में कांग्रेस के धरना प्रदर्शन के बाद किरर घाटी का कार्य प्रारम्भ किया गया है, लेकिन मंथरगति कार्य के चलते अवरुद्ध मार्ग आमजन के लिए कब बहाल हो सकेगा यह अबूझ पहेली बनी हुई है.

इसी तरह मुख्यालय राजेंद्रग्राम में प्रशासन के आँख के नीचे हनुमान चैक से नए बस स्टैंड को जाने वाला रोड मार्ग गड्ढे में परिवर्तित होता जा रहा है. चलते वाहनों से रोड के अगल-बगल निकलने वाले आमजनों के सफेद कपडे कीचड़ के छींटों से सराबोर हो रहे हैं, लेकिन समबन्धित विभाग की आंख बंद है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button