स्लाइडरस्वास्थ्य

BIG BREAKING: कोरोना के बीच Norovirus की एंट्री से दहशत, 11 छात्रों में नोरोवायरस की पुष्टि, जानिए कैसे फैलती है ये बीमारी और क्या हैं लक्षण ?

Norovirus In Kerala: केरल के वायनाड में नोरोवायरस की पुष्टि हुई है. वायनाड जिले के एक पशु चिकित्सा महाविद्यालय के 11 छात्रों में नोरोवायरस की सूचना मिली थी. केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने शुक्रवार को लोगों से सतर्क रहने को कहा और नोरोवायरस को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए. बताया जा रहा है कि यह पेट का अत्यधिक संक्रामक रोग है. इससे व्यक्ति में कई तरह के लक्षण दिखने लगते हैं.

अनूपपुर पुलिस की नाकामी ! राजेंद्रग्राम के बाद अब इस थाने से आरोपी फरार, इतने पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज, अपराधी पर 10 हजार का इनाम घोषित

जानकारी के मुताबिक दूषित पानी और दूषित भोजन से यह बीमारी फैलती है. यह पशु जनित रोग है. दो हफ्ते पहले वायनाड जिले के विथिरी के पास पुकोडे में एक पशु चिकित्सा कॉलेज के 13 छात्रों में दूषित पानी और भोजन से फैलने वाली एक पशु जनित बीमारी नोरोवायरस की सूचना मिली थी.

नाबालिग गैंगरेप केस: पूर्व मंत्री समेत 3 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा, SC के फटकार के बाद दर्ज हुई थी FIR

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि फिलहाल चिंता की कोई बात नहीं है, लेकिन सभी को सतर्क रहना चाहिए. सुपर क्लोरीनेशन सहित गतिविधियां चल रही हैं. पेयजल स्रोतों को स्वच्छ बनाने की जरूरत है.

100 महिलाओं की लाश के साथ रेप: क्रब से निकालकर बच्ची के शव से बलात्कार, बुजुर्ग महिलाओं की डेड बॉडी से भी हैवानियत

सावधानी जरुरी है

केरल के स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि इस मामले में काफी सावधानी बरती जा रही है. उन्होंने लोगों से भी सावधान और सतर्क रहने को कहा है. उन्होंने कहा कि उचित रोकथाम और उपचार से बीमारी को जल्दी ठीक किया जा सकता है. इसलिए लोगों को इसे लेकर काफी जागरुक और सतर्क रहने की जरुरत है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी को इस बीमारी और इसकी रोकथाम के उपायों के बारे में पता होना चाहिए.

गैंगरेप की खौफनाक वारदात: 17 साल की लड़की से 17 हैवानों ने 4 दिन तक किया गैंगरेप, किडनैप कर ले गया था कैब ड्राइवर

नोरोवायरस क्या है?

नोरोवायरस गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल बीमारी का कारण बनता है, जिसमें पेट और आंतों की परत की सूजन, गंभीर उल्टी और दस्त शामिल हैं. नोरोवायरस स्वस्थ लोगों को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित नहीं करता है लेकिन यह छोटे बच्चों, बुजुर्गों में गंभीर हो सकता है. नोरोवायरस आसानी से संक्रमित लोगों के साथ निकट संपर्क के माध्यम से या दूषित सतहों को छूने से फैलता है. यह पेट के कीड़े वाले किसी व्यक्ति द्वारा तैयार या संभाला हुआ भोजन खाने से भी फैल सकता है. यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के मल और उल्टी से फैल सकता है.

नोरोवायरस के लक्षण क्या हैं?

दस्त, पेट दर्द, उल्टी, मतली, उच्च तापमान, सिरदर्द और शरीर में दर्द नोरोवायरस के कुछ सामान्य लक्षण हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि तीव्र उल्टी और दस्त से निर्जलीकरण और आगे की जटिलताएं हो सकती हैं.

नोरोवायरस को रोकने के लिए दिशा निर्देश?

केरल के स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों में कहा गया है कि नोरोवायरस से संक्रमित लोगों को घर पर आराम करना चाहिए. ओआरएस और उबला हुआ पानी पीना चाहिए. लोगों को खाना खाने से पहले और शौचालय का उपयोग करने के बाद अपने हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोना चाहिए. स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों में कहा गया है, जानवरों के साथ संपर्क में रहने वालों को विशेष ध्यान देना चाहिए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button