मध्यप्रदेशरोजगारस्लाइडर

जान बचाओ इनाम पाओ: सड़क हादसे में जान बचाने वाले को मिलेंगे 5 हजार, MP सरकार कर रही बड़ी तैयारी, जानिए स्कीम

भोपाल. देश में लगातार बढ़ रही सड़क दुर्घटनाओं और होने वाली मौतों में कमी करने के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of road transport and highways) ने गुड सेमेरिटन स्कीम (Good samaritan scheme) लागू कर दी है.

इस स्कीम के तहत जो भी शख्स सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को अस्पताल ले जाएगा, उसे 5 हजार रुपये नगद और प्रशस्ति-पत्र दिया जाएगा. केंद्र सरकार भी जान बचाने वाले 10 लोगों या गुड सेमेरिटन को 1-1 लाख का पुरस्कार देगी.

हसीनाओं को ED का बुलावा: 200 करोड़ की मनी लांड्रिंग मामले में ED ने नोरा फतेही और जैकलीन को भेजा समन, करेगी पूछताछ

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान जी जनार्दन ने बताया कि केंद्र सरकार ने इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं. मध्य प्रदेश में  योजना शुक्रवार से लागू कर दी गई.

जानकारी के मुताबिक, जान बचाने वाला शख्स या गुड सेमेरिटन जब सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल व्यक्तियों को सीधा अस्पताल ले जाता है, तो उस व्यक्ति के बारे में डॉक्टर स्थानीय पुलिस को सूचना देंगे. योजना के संबंध में सभी जिलों के एसपी को जानकारी और निर्देश दे दिए गए हैं.

IGNTU के प्रोफेसर की शर्मनाक करतूत ! PHD छात्रा से ‘सिंह’ ने कई मर्तबा होटल और कमरे में किया दुष्कर्म, पत्नी बनाने का किया था वादा, छात्रा लगा रही न्याय की गुहार 

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक पुलिस प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान जी जनार्दन के मुताबिक, पुलिस उस गुड सेमेरिटन का पता, घटना की पूरी जानकारी और मोबाइल नंबर अधिकृत लैटरपैड पर गुड सेमेरिटन और जिला अप्रेजल कमेटी को भेजेगी.

हसीनाओं को ED का बुलावा: 200 करोड़ की मनी लांड्रिंग मामले में ED ने नोरा फतेही और जैकलीन को भेजा समन, करेगी पूछताछ

इसके लिए निर्धारित प्रारूप तैयार किया गया है. इन मामलों का परीक्षण भी किया जाएगा. इस परीक्षण के लिए जिला स्तर पर कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी. इस कमेटी में एसपी, सीएमएचओ व जिला परिवहन अधिकारी सदस्य होंगे.

जिंदगी की कीमत इतनी सस्ती है! पिज्जा नहीं मिलने पर नर्सिंग की छात्रा ने फांसी लगाकर दी जान, 2 दिन पहले मनाया था जन्मदिन

कमेटी की समीक्षा के बाद मिलेगा अवॉर्ड

ये कमेटी प्रकरणों की समीक्षा करेगी और अवॉर्ड देने का फैसला लेगी. इसकी सूची राज्य परिवहन आयुक्त को भेजी जाएगी. राज्य परिवहन आयुक्त सीधे गुड सेमेरिटन के बैंक खाते में प्रोत्साहन राशि जमा करा देंगे. एडीजी जनार्दन ने बताया कि गुड सेमेरिटन द्वारा दी गई जानकारी केवल अवॉर्ड प्रदाय के लिए उपयोग की जाएगी, अन्य किसी कार्य के लिए नहीं. एक गुड सेमेरिटन को वर्ष में अधिकतम 5 केस में इनाम दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: APR पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई: 1 करोड़ से ज्यादा का गांजा जब्त, प्लास्टिक के पैकेट में छिपा रखे थे नशे का जखीरा…

केंद्र सरकार की तरफ से भी जान बचाने वाले 10 लोगों को  1-1 लाख रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा. योजना के मुताबिक परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय इसके लिए सभी राज्यों से तीन-तीन उत्कृष्ट प्रकरण मंगवाएगा और उनका परीक्षण करेगा. ऐसे 10 प्रकरण उत्कृष्ट सहायता के आधार पर चुने जाएंगे. उन्हें परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: ये कैसा पति! पत्नी को पहले दी नींद की गोलियां, फिर कोबरा से डसवा कर की हत्या, पुलिस ने ऐसे सुलझाया मामला

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

छत्तीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button