छत्तीसगढ़

गरियाबंद में मनाया गया गणतंत्र दिवस: सांसद चुन्नीलाल साहू ने ध्वजारोहण कर ली परेड की सलामी, देश भक्ति मय सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति

गिराश जगत, गरियाबंद। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस 26 जनवरी हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि महासमुंद लोकसभा क्षेत्र के सांसद चुन्नीलाल साहू ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। इसके बाद मुख्य अतिथि साहू ने कलेक्टर दीपक अग्रवाल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित कांबले के साथ परेड का निरीक्षण किया।

इसके बाद साहू ने जनता के नाम मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के संदेश का वाचन किया। हर्ष तथा खुशहाली के प्रतीक गुब्बारे आसमान में छोड़े गये। इस अवसर पर मुख्य अतिथि साहू द्वारा शहीदों के परिजनों को शॉल और श्रीफल से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राओं ने छत्तीसगढ़ी संस्कृति और परंपरा तथा देशभक्ति से ओतप्रोत आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। साथ ही विभागों ने शासकीय योजनाओं पर आधारित आकर्षक झांकी प्रस्तुत किए।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में पोस्ट मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास प्रथम, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय गरियाबंद को द्वितीय, स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल को तृतीय पुरस्कार मिला। इसी प्रकार झांकी पुरस्कार अंतर्गत जिला पंचायत – विकसित भारत संकल्प यात्रा को पहला, वन विभाग को दूसरा एवं आदिम जाति कल्याण विभाग- पीएम जनमन को तीसरा पुरस्कार प्राप्त हुआ। इसके अलावा परेड कमांडर एवं सभी प्लाटूनों के कमांडरों को भी सम्मानित किया गया।

समारोह में नगर पालिका परिषद गरियाबंद के अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार मेमन, वनमण्डलाधिकारी मणिवासगन एस, अपर कलेक्टर अविनाश भोई, जिला पंचायत सीईओ रीता यादव, जनपद पंचायत अध्यक्ष लालिमा ठाकुर सहित अनेक जनप्रतिनिधिगण, पत्रकारगण, गणमान्य नागरिक, आम जनता, अधिकारी-कर्मचारी, स्कूली व महाविद्यालयीन छात्र-छात्रायें बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी हुए सम्मानित

शासकीय कार्याे में निष्ठापूर्वक दायित्वों के निर्वहन के लिए एनआईसी के उपनिदेशक नेहरू निराला, निर्वाचन में उत्कृष्ट कार्य के लिए तरुण सोनी, गिरीश चन्द्राकर सहित जनसंपर्क विभाग, स्वास्थ्य, जिला पंचायत, शिक्षा, महिला बाल विकास, राजस्व, वन, कृषि, उद्यानिकी, जल संसाधन, आदिवासी विकास विभाग एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी शील्ड और प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button