ट्रेंडिंगदेश - विदेशस्लाइडर

अभिनेता और DMDK संस्थापक की कोरोना से मौत: सांस लेने में हो रही थी दिक्कत, कोविड रिपोर्ट आई पॉजिटिव, PM समेत कई नेताओं ने जताया दुख

Vijayakanth Passes Away: तमिलनाडु में देसिया मुरपोक्कू द्रविड़ कड़गम (डीएमडीके) प्रमुख कैप्टन विजयकांत का गुरुवार को चेन्नई में निधन हो गया। वह हाल ही में कोरोना से संक्रमित हुए थे। अभिनेता और राजनेता की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पार्टी ने बयान जारी कर कहा था कि विजयकांत को सांस लेने में दिक्कत के चलते वेंटिलेटर पर रखा गया है।

जानकारी के मुताबिक, विजयकांत को 20 नवंबर को एमआईओटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल के मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक, विजयकांत को निमोनिया की शिकायत के बाद भर्ती कराया गया था। तब से वह वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। मेडिकल स्टाफ के प्रयासों के बावजूद 28 दिसंबर 2023 की सुबह उनकी मौत हो गई।

सांस की बीमारी का इलाज चल रहा था

इस महीने की शुरुआत में वह अस्पताल से घर लौटे थे। विजयकांत का सांस संबंधी बीमारी का इलाज चल रहा था। वह काफी समय से इससे पीड़ित थे। ऐसे में कई बार उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। 71 साल के विजयकांत फिल्मों में भी अपना हुनर दिखा चुके हैं।

उनके निधन से एक खालीपन आ गया है- पीएम मोदी

विजयकांत के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि विजयकांत जी के निधन से बेहद दुखी हूं. तमिल फिल्म उद्योग के एक दिग्गज, उनके करिश्माई प्रदर्शन ने लाखों लोगों का दिल जीत लिया। एक राजनीतिक नेता के रूप में, वह सार्वजनिक सेवा के प्रति गहराई से प्रतिबद्ध थे, और उन्होंने तमिलनाडु के राजनीतिक परिदृश्य पर एक स्थायी प्रभाव छोड़ा। उनके निधन से एक ऐसा शून्य पैदा हो गया है जिसे भरना मुश्किल होगा।

स्टालिन विजयकांत के आवास पर पहुंचे

इसके अलावा मुख्यमंत्री एमके स्टालिन चेन्नई में डीएमडीके प्रमुख कैप्टन विजयकांत के आवास पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि विजयकांत को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। इसके अलावा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट कर अपनी संवेदना व्यक्त की।

100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया

विजयकांत का फिल्मी करियर भी जबरदस्त रहा। उन्होंने कई हिट फिल्में दीं। जानकारी के मुताबिक उन्होंने करीब 154 फिल्मों में काम किया है। इसके बाद उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया और डीएमडीके की स्थापना की। वह विरुधाचलम और ऋषिवंडियम विधानसभा सीटों से विधायक भी रहे हैं।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button