छत्तीसगढ़

डिंडौरी में बढ़ रही लापरवाह कर्मचारियों की फौज: 2 सचिव और 9 ग्राम रोजगार सहायक को नोटिस, जानिए किस कांड में एक्शन ?

गणेश मरावी,डिंडौरी। मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में लापरवाह कर्मचारियों की भरमार है। यहां पर हर दिन कार्यों के प्रति लापरवाही करने वाले कर्मचारियों को नोटिस दी जा रही है, लेकिन ये लापरवाह कर्मचारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब जिला प्रशासन इन लापरवाह कर्मचारियों के विरूध्द कड़ी कार्रवाई करने के लिए कमर कस ली है।

डिंडौरी में बस पलटने से मौत से मातम: अमरकंटक से मां नर्मदा दर्शन कर जा रहे थे, हादसे में 8 लोग घायल, जानिए कितने की हुई मौत ?

दरअसल, विगत दिनों अमरपुर में 9 रोजगार सचिव व सचिवों को लापरवाही बरतने के चलते कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। अब समनापुर में 2 सचिव और 09 रोजगार सहायकों को नोटिस थमाया गया है। सभी 11 कर्मचारियों को नोटिस जारी का 3 दिवस के भीतर जवाब मांगा है।

2 सचिव और 9 रोजगार सहायकों को कारण बताओ नोटिस जारी

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समनापुर सी.पी.साकेत ने 2 सचिव और 09 रोजगार सहायकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उन्होंने ग्राम पंचायत बम्हनी के सचिव जमुना प्रसाद गवले व ग्राम पंचायत पड़रिया 02 के सचिव याकूब खान और ग्राम पंचायत देवलपुर के रोजगार सहायक बलराम राजपूत, ग्राम पंचायत जाताड़ोंगरी के रोजगार सहायक शंकर सिंह कुशयप को नोटिस जारी किया गया है।

इसके साथ ही ग्राम पचांयत कंचनपुर के रोजगार सहायक घनश्याम, ग्राम पंचायत करेगांव के रोजगार सहायक उत्तम दास सोनवानी, ग्राम पचांयत खाम्हा के रोजगार सहायक सीताराम राठौर, ग्राम पंचायत मारगांव के रोजगार सहायक कमलेश धनंजय, ग्राम पंचायत पिपरिया के रोजगार सहायक संदीप तिवारी, ग्राम पंचायत साल्हेघोरी के रोजगार सहायक रेवा प्रसाद ठाकुर को पदीय दायित्वों और कार्यों के प्रति उदासीनता बरतने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

आवास निर्माण कार्य में लापरवाही

बताया गया कि सभी सचिव एवं रोजगार सहायकों के द्वारा ग्राम पंचायत में आवास निर्माण कार्य, सीएमहेल्पलाइन पोटर्ल में दर्ज शिकायतों सहित जॉबकार्ड धारियों को अपेक्षाकृत रोजगार उपलब्ध नहीं कराया गया है,जबकि बैठकों में बार-बार उक्त संबंध में निर्देश दिये गए हैं।

3 दिवस में देना होगा जवाब

सचिव और रोजगार सहायकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर 03 दिवस के भीतर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया गया, समय-सीमा में संतोषप्रद जबाव प्रस्तुत नहीं करने पर एकपक्षीय कार्रवाई की जाएगी।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button