जुर्मट्रेंडिंगदेश - विदेशनई दिल्लीस्लाइडर

BJP विधायक ने थाने में घुसकर नेता को मारी गोली: बोला- हां मैंने खुद मारी गोली, कोई पछतावा नहीं, फायरिंग से दहला पुलिस स्टेशन 

Ganpat Gaikwad and Mahesh Gaikwad Firing Case: महाराष्ट्र में जमीन को लेकर हुई लड़ाई के बाद दो सत्ताधारी पार्टियों के नेताओं के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि एक विधायक ने दूसरे नेता को गोली मार दी. आरोपी बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ ने शिंदे गुट के शिवसेना नेता महेश गायकवाड़ पर थाने के अंदर पांच राउंड फायरिंग की.

मामला ठाणे के उल्हासनगर का है जहां हिल लाइन पुलिस स्टेशन के अंदर फायरिंग की ये घटना हुई. पुलिस ने बताया कि आरोपी विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

इस बीच, महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और गृह मंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। गिरफ्तार बीजेपी विधायक गणपत गायकवाड़ को मेडिकल जांच के लिए पुलिस स्टेशन से बाहर लाया जा रहा है. आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. घटना के सिलसिले में गायकवाड़ सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

डीसीपी सुधाकर पठारे का कहना है, ‘छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिनमें से तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य तीन की तलाश जारी है. एफआईआर में आईपीसी और आर्म्स एक्ट की धाराएं लगाई गई हैं.

पुलिस अधिकारी के चैंबर में गोली मारी

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दत्तात्रेय शिंदे ने मीडिया को बताया कि भाजपा के कल्याण विधायक गणपत गायकवाड़ ने शुक्रवार रात उल्हासनगर क्षेत्र के हिल लाइन पुलिस स्टेशन में वरिष्ठ निरीक्षक के कक्ष के अंदर कल्याण शिवसेना प्रमुख महेश गायकवाड़ पर गोलियां चलाईं।

गिरफ्तारी से पहले गणपत गायकवाड़ ने एक न्यूज चैनल को बताया कि उनके बेटे को पुलिस स्टेशन में पीटा जा रहा था इसलिए उसने गोली चला दी.

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र में ‘अपराधियों का साम्राज्य’ स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. महेश गायकवाड़ को पहले स्थानीय मीरा अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी हालत बिगड़ने के बाद उन्हें ठाणे के ज्यूपिटर अस्पताल ले जाया गया। शिवसेना की कल्याण इकाई के प्रभारी गोपाल लांडगे ने कहा, ‘उनका (महेश गायकवाड़) ऑपरेशन सफल रहा.’

जमीन विवाद को लेकर दोनों पक्ष थाने पहुंचे थे

एडिशनल सीपी शिंदे के मुताबिक, गणपत गायकवाड़ का बेटा जमीन विवाद की शिकायत दर्ज कराने पुलिस स्टेशन आया था, तभी महेश गायकवाड़ अपने लोगों के साथ पहुंचे. बाद में गणपत गायकवाड़ भी थाने पहुंचे.

अधिकारी के अनुसार, विधायक और शिवसेना नेता के बीच विवाद के दौरान, गणपत गायकवाड़ ने कथित तौर पर वरिष्ठ निरीक्षक के कक्ष के अंदर महेश गायकवाड़ पर गोली चला दी, जिससे वह और उनके सहयोगी घायल हो गए।

विधायक गणपत ने कहा, ‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री होंगे तो महाराष्ट्र में सिर्फ अपराधी पैदा होंगे. आज उन्होंने मुझ जैसे भले आदमी को अपराधी बना दिया। पुलिस ने गणपत गायकवाड़ के अलावा दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है.

एक अधिकारी ने कहा, उन पर 307 (हत्या का प्रयास) और 120बी (आपराधिक साजिश) सहित भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button