नौकरशाहीमध्यप्रदेशस्लाइडर

डिंडौरी के IAS ने कार पर कलेक्टर की जगह लिखवाया ‘लोकसेवक’: विकास मिश्रा बोले- संविधान में कहीं भी कलेक्टर का उल्लेख नहीं, शिवराज भी कर चुके हैं तारीफ

Dindori’s IAS Vikas Mishra got ‘Public Servant’ written on the car instead of Collector: मध्यप्रदेश के डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने एक और नवाचार अपनाया है। उन्होंने अपनी कार पर ‘कलेक्टर’ की जगह ‘लोक सेवक’ लिखी प्लेट लगवाई है। उन्होंने कहा कि ‘संविधान में कहीं भी कलेक्टर के नाम का उल्लेख नहीं है। उस पर लोक सेवक लिखा है। इसलिए गाड़ी पर भी वही लिखा गया है।

असंगठित मजदूरों को स्वास्थ्य जांच और योजनाओं की जानकारी देने के लिए मंगलवार सुबह जिले में शिविर का आयोजन किया गया। इसमें कलेक्टर विकास मिश्रा लोक सेवक लिखी गाड़ी से पहुंचे। सोमवार तक उनकी कार पर कलेक्टर लिखा हुआ था।

पहले भी सुर्खियों में रहे हैं

इससे पहले भी कलेक्टर मिश्रा कई नवाचारों को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं। उसने महिला मजदूरों के साथ ईंटों से भरा तवा उठाया था। उन्होंने जमीन पर बैठकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी हैं। वह 9वीं कक्षा के छात्र को एक दिन का कलेक्टर बनाने को लेकर भी चर्चा में रहे थे। उन्होंने रूद्रप्रताप को विधिवत अपनी कुर्सी पर बैठाया और कार्यप्रणाली के बारे में समझाया।

कहा- मजदूर कार्यालय नहीं आ सकें, इसलिए शिविर लगाया गया

कलेक्टर विकास मिश्रा ने कहा कि ‘असंगठित क्षेत्र के मजदूर सुबह से ही काम की तलाश में निकल पड़ते हैं। सरकारी कार्यालयों में अधिकारी 10 बजे के बाद पहुंचते हैं, इसलिए कार्यकर्ता उनसे नहीं मिल पाते हैं। ऐसे में उन्हें श्रम विभाग की योजनाओं की जानकारी व लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसलिए निर्णय लिया गया है कि अधिकारी स्वयं कार्यकर्ताओं के पास जाएंगे।

पूर्व सीएम शिवराज ने की थी तारीफ

2013 बैच के आईएएस विकास मिश्रा ने 9 नवंबर 2023 को डिंडोरी जिले की कमान संभाली थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवाड़ी दौरे के दौरान मंच से डिंडोरी कलेक्टर की तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि ‘डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा सुबह 5 बजे तैयार होकर फील्ड में निकल जाते हैं। वह जमीन पर बैठकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनते हैं।

एक बैगा महिला के पैर छुए थे

कलेक्टर मिश्रा 27 नवंबर 2023 को पड़रिया गांव पहुंचे थे। यहां उन्होंने जमीन पर बैठकर ग्रामीणों की समस्याएं जानीं। बैगा महिला बजरिया बाई ने अपनी समस्या बताते हुए उनके पैर छुए तो कलेक्टर ने भी उनके पैर छू लिए।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button