छत्तीसगढ़जुर्मस्लाइडर

छत्तीसगढ़ में 90 बोरी अवैध धान पर छापा: दूसरे राज्य से लाकर जंगल में छुपाया, जानिए कैसे पकड़ा गया तस्कर ?

90 bags of illegal paddy of Jharkhand seized from the jungle in Balrampur: बलरामपुर में अवैध धान पर कार्रवाई करते हुए 90 बोरा अवैध धान जब्त किया गया है. धान की खरीदी 1 नवंबर 2023 से की जा रही है.

कलेक्टर रेमिजियस एक्का ने सभी निगरानी टीमों, नोडल और राजस्व अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि धान के अवैध परिवहन और भंडारण पर लगातार कार्रवाई की जाए और धान खरीदी की जाए. 

जानकारी के अनुसार अनुविभागीय अधिकारी राजस्व रामानुजगंज एवं पुलिस विभाग की टीम ने ग्राम चंद्रनगर में अवैध रूप से भण्डारित 40 बोरा धान जब्त किया। वहीं, जिले के ग्राम करचा के जंगल में झारखंड से लाकर भंडारित 50 बोरी अवैध धान को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बलरामपुर एवं पुलिस विभाग द्वारा जब्त कर चांदो थाने के सुपुर्द किया गया.

जिला प्रशासन के आदेश पर कार्रवाई

कलेक्टर रेमिजियस एक्का के निर्देश पर बिचौलियों और धान के अवैध भंडारण पर कार्रवाई की जा रही है. कलेक्टर ने निगरानी दलों, राजस्व एवं नोडल अधिकारियों को उपार्जन केन्द्रों में किसानों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिये हैं, ताकि किसान आसानी से धान बेच सकें। यह भी कहा गया है कि धान के अवैध परिवहन और भंडारण पर कड़ी नजर रखी जाए।

तीन राज्यों की सीमाओं पर निगरानी

बलरामपुर कलेक्टर आर एक्का और एसपी डॉ. लाल उमेद सिंह के निर्देश पर झारखंड, यूपी और एमपी से लगने वाली बलरामपुर की सीमा से लगी अंतरराज्यीय चौकियों पर इन राज्यों से आने वाले मालवाहकों की सख्ती से जांच की जा रही है.

इन वाहनों से धान परिवहन पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। झारखंड और उत्तर प्रदेश में धान की कीमत 16 रुपये से 18 रुपये प्रति किलोग्राम है. इसके चलते पहले के वर्षों में भी समर्थन मूल्य पर झारखंड और यूपी का धान छत्तीसगढ़ में खपाया जाता रहा है.

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button