जुर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

MP में एक ही परिवार के 4 लोगों की मौत: ट्रक ने कार को मारी टक्कर, मरने वालों में पति-पत्नी और बेटी भी शामिल

Four people died in Guna road accident: मध्यप्रदेश के गुना जिले में मंगलवार सुबह कार को टक्कर मारने के बाद ट्रक उसके ऊपर पलट गया। हादसे में कार सवार पति-पत्नी, बेटी समेत 4 लोगों की मौत हो गई। जबकि 2 गंभीर घायल हैं। ट्रक में कागज की रद्दी भरी हुई थी। कमानी टूटने की वजह से ट्रक कार पर पलटा। इसके ड्राइवर और क्लीनर घटनास्थल से भाग गए। यह हादसा बायपास पर ढाबे के पास हुआ।

दरअसल, राजगढ़ जिले के सारंगपुर के तारागंज का परिवार भिंड जिले के लहार में मकान के उद्घाटन कार्यक्रम में जा रहा था। परिवार के सदस्य तड़के 4 बजे कार से लहार के लिए रवाना हुए थे। सुबह 7.30 बजे गुना बायपास पर एक जेसीबी क्रॉस कर रही थी। इस वजह से ड्राइवर ने कार रोड से नीचे उतारकर खड़ी कर दी। जेसीबी क्रॉस हो जाने पर ड्राइवर ने कार को जैसे ही सड़क पर चढ़ाया, तभी पीछे आ रहा ट्रक टकराकर कार पर ही पलट गया।

CM डॉ. मोहन यादव ने जताया दुख

इस घटना पर सीएम मोहन यादव और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शोक जताया। उन्होंने X पर पोस्ट किया- सारंगपुर से लहार जा रहे परिवार के गुना बायपास पर सड़क दुर्घटना में चार लोगों के निधन और 2 लोगों के घायल होने का अत्यंत दुःखद समाचार प्राप्त हुआ है। भगवान दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान दें। घायलों को तुरंत स्वास्थ्य लाभ पहुंचाएं, ऐसी प्रार्थना है। शोकाकुल परिजनों के लिए मेरी गहरी संवेदनाएं।

ट्रक ड्राइवर ने हॉर्न तक नहीं बजाया

कार चला रहे सुमित ने बताया कि जेसीबी क्रॉस होने के बाद कार को वापस रोड पर लेकर आ रहा था, पीछ से स्पीड में ट्रक आया। ट्रक ड्राइवर ने न तो हॉर्न बजाया, न ही उसने ब्रेक लगाए। वह सीधा चला आया और गलत साइड ट्रक काट दिया। इससे ट्रक टकराते हुए कार पर पलट गया।

मूल रूप से लहार का रहने वाला है परिवार

हादसे में रामप्रकाश (40), पत्नी गीता बाई (35), बेटी रोशनी (15) और जय देवी (45) की मौत हो गई। भाई-बहन सुमित और राखी घायल हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रामप्रकाश पोस्ट मेट्रिक छात्रावास सारंगपुर (राजगढ़) में चौकीदार थे। इसीलिए परिवार यहां रहता था। वह झमुआ (लहार, भिंड) में बुआ जमुना बाई के यहां मकान के उद्घाटन में जा रहे थे।

जयदेवी के पति हरिदास भी पोस्ट मैट्रिक छात्रावास के अधीक्षक थे। उनकी 2018 में मौत हो गई थी। उनके बेटे सुमित को उनकी जगह अनुकंपा मिलने वाली है। सुमित कुछ समय पहले ही 18 साल का हुआ है।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button