छत्तीसगढ़जुर्मट्रेंडिंगधर्मस्लाइडर

मुंगेली भगवा झंडा विवाद की सीक्रेट स्टोरी: DJ लोड पिकअप पर 5-7 लोग, सड़क पर रस्सी से बंधे झंडे….और फिर जानिए क्या क्या हुआ ?

Secret Story Video of Mungeli Saffron Flag Controversy: छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी में भगवा ध्वज के अपमान के विरोध में हिंदू संगठन के लोगों ने प्रदर्शन किया. घटना से गुस्साए लोगों ने डिंडोरी पुलिस चौकी का घेराव कर दिया. बताया जा रहा है कि सड़क पर रस्सी से बंधे भगवा झंडों को फाड़ने की हरकत की गई है. ये कायराना करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.

पिकअप सवार लोगों ने फाड़ा झंडा

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार की रात डिंडोरी गांव में कुछ असामाजिक तत्वों ने पिकअप पर लोड डीजे पर चढ़कर भगवा झंडे की रस्सी तोड़ दी, जिसका स्थानीय लोगों ने रात में ही विरोध किया.

पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में लिया

इसके बाद शनिवार सुबह घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद माहौल गरमा गया. मामला बढ़ने पर 6 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

पुलिस प्रशासन ने हल्का बल प्रयोग किया

गुस्साए भाजपाइयों और हिंदू समाज के लोगों ने डिंडौरी चौकी का घेराव कर दिया। प्रदर्शनकारी लोमेश यादव ने बताया कि डीजे लोड पिकअप में 7-8 लोग सवार थे, जो सड़क पर भगवा झंडे तोड़ रहे थे. ये सब चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है. हिंदू संगठन के लोगों ने पुलिस से कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन किया.

प्रदर्शनकारी 5 घंटे तक चौकी के सामने डटे रहे

घटना के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और चौकी के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की. प्रदर्शनकारी करीब 5 घंटे तक चौकी के सामने डटे रहे. एसडीओपी और लोरमी एसडीएम प्रवीण तिवारी ने किसी तरह लोगों को समझाइश दी.

6 युवकों को हिरासत में लिया गया

पुलिस ने इस मामले में 6 युवकों को हिरासत में लिया है. गिरफ्तार सभी आरोपियों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत कार्रवाई की जा रही है. डीजे संचालक के खिलाफ कोलाहल अधिनियम के तहत भी कार्रवाई की जा रही है. प्रशासन लोगों से शांति बनाए रखने की अपील कर रहा है.

प्रशासन ने भगवा झंडे पर विवाद से इनकार किया

लोरमी एसडीएम प्रवीण तिवारी ने बताया कि कुछ लोगों को पकड़ा गया है, लेकिन ग्रामीण सभी की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. फिलहाल 6 लोगों के खिलाफ धारा 151 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है. डीजे शोर अधिनियम के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में पेश किया गया है. भगवा झंडे को लेकर कोई मामला नहीं था, डीजे को लेकर आपसी विवाद था.

देखिए CCTV फुटेज

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button