छत्तीसगढ़सियासतस्लाइडर

एक्शन मोड में कांग्रेस: इस विधायक को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासन प्रस्ताव पास, जानिए क्यों उठाना पड़ा ये कदम ?

बिलासपुर: कांग्रेस विधायक शैलेश पांडेय (Congress MLA Shailesh Pandey) को शहर कांग्रेस कमेटी (City Congress Committee) ने कांग्रेस पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासन का प्रस्ताव पास कर दिया है. शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक ने निष्कासन के प्रस्ताव की पुष्टि की है. इस मामले की प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम (State President Mohan Markam) सहित राष्ट्रीय अध्यक्ष वेणुगोपाल (National President Venugopal) और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया (State in-charge PL Punia) को निष्कासन प्रस्ताव भेजा है.

पार्टी पदाधिराकियों का आरोप है कि शहर विधायक शैलेश पांडेय (MLA Shailesh Pandey) लगातार पार्टी अनुशासन का कर उल्लंघन रहे थे. पंकज सिंह मारपीट मामले (Pankaj Singh assault case) में थाना में किये बयानबाजी को लेकर निष्कासन का प्रस्ताव पास किया है. वहीं एक दिन पहले विधायक ने आरोप लगाया था कि वो स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (Health Minister TS Singhdeo) के आदमी होने की वजह से उनको और उनके समर्थकों को निशाना बनाया जा रहा है.

बिलासपुर में कांग्रेस के भीतर मचे सियासी खींचतान के बीच शहर कांग्रेस कमेटी ने शहर विधायक शैलेश पांडेय (MLA Shailesh Pandey) के खिलाफ निष्कासन का प्रस्ताव पारित किया है. शहर कार्यकारिणी के प्रस्ताव के मुताबिक 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासन की मांग की गई है. इसके साथ ही प्रस्ताव पीसीसी अनुशासन समिति को भेज दिया गया है.

दरअसल, शहर कांग्रेस का कहना है, बीते दिनों शहर विधायक शैलेश पांडेय ने थाना का घेराव करते हुए अपने ही सरकार के खिलाफ गलत बयानबाजी की थी, जो पार्टी के अनुशासनहीनता के दायरे में आता है. इसे लेकर शहर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष राजकुमार तिवारी ने कार्यकारिणी के समक्ष प्रस्ताव रखा था. जिसका महामंत्री अजय यादव ने समर्थन किया. जिसके बाद कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से शहर विधायक शैलेश पांडे को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित करने का प्रस्ताव पारित किया है.

शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि, पार्टी में कोई किसी का आदमी नहीं है, बल्कि सब पार्टी के लोग हैं. ऐसे में शहर विधायक ने गलतबयानी करते हुए पार्टी विरोधी गतिविधियों को अंजाम दिया है, जो अनुशासनहीनता के दायरे में आता है. शहर अध्यक्ष ने बताया कि प्रस्ताव पीसीसी के अनुशासन समिति को भेज दिया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button