छत्तीसगढ़

गरियाबंद में लोकसभा चुनाव की तैयारियां तेज: राजनीतिक दलों की मौजूदगी में मशीनों का FLC, कलेक्टर ने लिया जायजा

गिरीश जगत, गरियाबंद। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिए 05 फरवरी से ई.सी.आई.एल. के इंजीनियरों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का (एफएलसी) प्रथम स्तरीय जांच प्रारंभ किया गया। यह कार्य जिला मुख्यालय स्थित कृषि उपज मंडी परिसर के वेयरहाउस में 14 फरवरी 2024 तक चलेगा।

कलेक्टर दीपक अग्रवाल ने मंडी परिसर पहुंचकर ईवीएम मशीनों का जायजा लिया। उन्होंने एफएलसी कार्यों को गंभीरतापूर्वक एवं निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के अनुसार पूर्ण करने के निर्देश अधिकारी-कर्मचारी को दिये।

जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार एफ.एल.सी के तहत बीयू-1095 नग, सीयू-758 नग एवं वीवीपेट-1058 नग कुल 2911 मशीनों का जिले में एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) कार्य इलेक्ट्रानिक कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, हैदराबाद से आए इंजिनियर्स द्वारा मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के समक्ष किया जा रहा है।

इससे पूर्व पुलिस अधिकारियों द्वारा सभी प्रतिनिधियों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रवेश के समय स्क्रीनिंग किया जा रहा है। जिसमें मोबाइल, कैमरा, स्पाय पेन, स्मार्ट वॉच सहित किसी भी अन्य प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को बाहर ही जमा कराया जा रहा है।

एफएलसी के दौरान 5 प्रतिशत मशीनों में रैंडमली मॉकपाल किया जायेगा। 1 प्रतिशत मशीन में लोड टेस्ट होगा जिसमें 4 बी.यू को 1-1 सी.यू और वीवीपेट से जोड़कर वोटिंग कराया जा रहा है।

इस कार्य के लिए प्रतिदिन मास्टर ट्रेनर्स, भृत्य एवं कोटवार की ड्यूटी जो मशीन की क्लिनिंग सहित अन्य कार्य कर रहे हैं। इस अवसर पर अपर कलेक्टर अविनाश भोई, एसडीएम मैनपुर हितेश पिस्दा सहित अन्य अधिकारी – कर्मचारी उपस्थित थे।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button