छत्तीसगढ़जुर्मस्लाइडर

बाइक सीख रहे 2 दोस्तों की सड़क हादसे में मौत: ट्रक ने रौंदा, पिता ने बेटे को दी थी चाबी, कोहरा और तेज रफ्तार बनी हादसे की वजह

2 friends who were learning bike died in a road accident in Surguja: छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के नेशनल हाईवे पर मंगलवार सुबह 6.30 बजे बाइक चलाना सीख रहे दो नाबालिग दोस्तों को अज्ञात ट्रक ने कुचल दिया। जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। एक बच्चे का सिर क्षत-विक्षत हो गया। बताया जा रहा है कि हादसे की वजह तेज रफ्तार और कोहरा है। घटना बतौली थाना क्षेत्र के लालमाटी की है.

जानकारी के अनुसार भट्टको निवासी 15 वर्षीय हेमंत अपने 14 वर्षीय दोस्त अमेरिकन से मिलने के लिए सुबह 6 बजे बाइक से घर से निकला था। वह शांतिपारा से अपने एक दोस्त को लेकर बाइक से नेशनल हाईवे-43 सीतापुर के लिए निकला। तभी लालमाटी के पास अज्ञात ट्रक ने बाइक को कुचल दिया।

ट्रक लेकर भागा ड्राइवर

हादसा इतना भीषण था कि बाइक पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। गंभीर चोट लगने से हेमंत और अमेरिकन की मौके पर ही मौत हो गई। घटना का कोई चश्मदीद गवाह नहीं है, लेकिन कुछ देर बाद जब राहगीरों ने दो लड़कों के शव देखे तो वे घबरा गए, उन्होंने बतौली पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद बतौली टीआई सीपी तिवारी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने दोनों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और जांच में जुट गई है।

दोनों के शव सड़क पर पड़े मिले

बाइक को टक्कर मारने के बाद ट्रक चालक ट्रक लेकर भाग गया। मौके पर बाइक के टुकड़ों के साथ ट्रक का अगला बंपर भी टूटा हुआ मिला। अनुमान लगाया जा रहा है कि ट्रक सीतापुर से अंबिकापुर की ओर आ रहा था। पुलिस ने ट्रक की तलाश के लिए संबंधित थाना क्षेत्रों में सूचना भेज दी है।

बाइक चलाने का शौक था

सुबह-सुबह सड़क पर कोहरा छाया हुआ था। इसलिए संभावना है कि ट्रक चालक बाइक सवारों को देख नहीं पाया होगा। हेमंत के पिता हरिभजन ने बताया कि दोनों दोस्त शांतिपारा मिशन स्कूल में कक्षा 7वीं और 8वीं के छात्र थे, जिन्हें बाइक चलाने का शौक था और बाइक चलाना सीख रहे थे।

पिता बोले- कभी गाड़ी नहीं देता था, सुबह चाबी मांगी तो दे दी

मृतक हेमंत के परिजनों ने बताया कि उन्होंने अपने बेटे को कभी बाइक नहीं चलाने दी, लेकिन जब सुबह उसने बाइक मांगी तो उन्होंने उसे चाबी दे दी। शांतिपारा निवासी उसके अमेरिकी दोस्त ने उसे घूमने जाने की बात कही थी और बाइक से बुलाया था। घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button