छत्तीसगढ़जुर्मस्लाइडर

16 साल की लड़की से दुष्कर्म: घर में बंधकर बनाकर रखा, आरोपी की मां ने की मारपीट, मरा समझकर तालाब किनारे फेंक दिया

minor held hostage and raped for two days in pendra: छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में एक नाबालिग लड़की को दो दिन तक बंधक बनाकर दुष्कर्म करने और पीटने की घटना सामने आई है। जब वह बेहोश हो गई तो उसे मरा समझकर गांव से दूर एक तालाब में फेंक दिया गया। इस घटना में आरोपी की मां ने साथ दिया है। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मां कहीं भाग गई है। जिसकी तलाश की जा रही है।

पूरा मामला पेंड्रा थाना क्षेत्र का है, जहां 21 दिसंबर की रात जब 16 साल की नाबालिग अपने पुराने घर से निकलकर दूसरे घर जा रही थी, तो रास्ते में उसकी मुलाकात उसी गांव के आरोपी प्रताप सिंह ओट्टी से हुई। वह उसे घर छोड़ने के बहाने बाइक पर बैठाकर जंगल की ओर ले गया, जहां उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया।

घर में बंधक बनाकर दुष्कर्म किया

जब पीड़िता ने हामी भरी तो आरोपी ने उसकी एक न सुनी और उसे धमकाकर अपने घर ले गया, जहां बंधक बनाकर दो दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी युवक और उसकी मां ने मिलकर नाबालिग की जमकर पिटाई की। जब वह बेहोश हो गया तो मरने के डर से उन्होंने उसे तालाब में फेंक दिया।

बेहोशी की हालत में मिली नाबालिग

ग्रामीणों ने जब नाबालिग को बेहोशी की हालत में देखा तो उसके परिजनों को सूचना दी। जिसके बाद नाबालिग के परिजनों ने उसे तालाब से बाहर निकाला और इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज चल रहा है। जानकारी के मुताबिक पीड़िता की हालत पहले से बेहतर है।

आरोपी बेटा गिरफ्तार, मां फरार

इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे ने बताया कि 28 दिसंबर को पेंड्रा थाने में नाबालिग की गुमशुदगी का मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद पीड़िता और परिजनों के बयान के आधार पर आरोपी के खिलाफ धारा 376, पॉक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया और 29 दिसंबर को आरोपी प्रताप सिंह ओत्ती को गिरफ्तार कर लिया गया। वही आरोपी की मां की तलाश की जा रही है।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button