जुर्मदेश - विदेशनई दिल्लीमध्यप्रदेशस्लाइडर

डिंडौरी में CEO और AAO का कमीशन गेम ? चहेते ठेकेदारों से 5 प्रतिशत चढ़ावे पर भुगतान, करोड़ों के खेल का मुख्यमंत्री-कलेक्टर से शिकायत, जानिए ‘करप्शन कांड’ की सीक्रेट कहानी ?

गणेश मरावी,डिंडौरी। मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में प्रभारी सीईओ गणेश पांडे एवं सहायक लेखा अधिकारी नरेंद्र करचाम पर मनरेगा परिषद के दिशा निर्देशों के विपरीत करोड़ो रू भुगतान करने का आरोप लगा है। बताया गया कि प्रभारी सीईओ जनपद पंचायत डिंडौरी गणेश पांडे एवं सहायक लेखाधिकारी नरेंद्र करचाम के द्वारा चहेते ठेकेदारों से 5 प्रतिशत कमीशन लेकर सामुदायिक कार्यो का करोड़ो रू. का भुगतान किया गया हैं,जबकि हितग्राही मूलक कार्यो का भुगतान वर्षो से लंबित हैं।

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: मेट,कुशल,अर्धकुशल मजदूरों के भुगतान हेतु 22 लाख रू. लबित है,इनका भुगतान किया जाना चाहिये,लेकिन इनके द्वारा अपने चहेते ठेकेदारों को भुगतान किया गया हैं। मामले को लेकर जनपद सदस्य संतोष सिंह चंदेल मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव,अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग समेत कलेक्टर से शिकायत कर जांच करा कार्रवाई की मांग किया गया है।

नियम के विपरीत किया गया भुगतान

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: जनपद सदस्य संतोष चंदेल ने बताया कि मनरेगा के तहत कराये गये निर्माण कार्यों में उपयोग की गई सामग्री के भुगतान किए जाने हेतु कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा ज.प. डिंडौरी को राशि आवंटित कर मध्यप्रदेश राज्य रोजगार गारंटी परिषद द्वारा दिशा निर्देश जारी कर प्राथमिकता के आधार पर भुगतान किए जाने का आदेश 12 जनवरी 2024 को जारी किया गया था.

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: उक्त आदेश का खुला उल्लघंन करते हुए प्रभारी सीईओ जनपद पंचायत डिंडौरी गणेश पांडे और सहायक लेखाधिकारी के द्वारा चहेते ठेकेदारों से 5 प्रतिषत कमीशन लेते हुए सामुदायिक कार्यों का करोड़ो रू. का भुगतान किया गया है, जबकि हितग्राही मूलक कार्यों का भुगतान वर्षों से लंबित हैं।

22 लाख रू है लंबित

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: बताया गया कि मेट/कुशल/अर्धकुशल मजदूरों के भुगतान हेतु 22 लाख रू. लबित है,इनका भुगतान रोककर चहेते ठेकेदारों को भुगतान किया गया हैं। जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायतो में सैकड़ो की संख्या में हितग्राही मूलक कार्यो के भुगतान वर्षो से लंबित हैं।

सामग्री बिलों को कई बार कर रहे डिलीट

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: आरोप है कि सहायक लेखाधिकारी नरेन्द्र करचाम द्वारा मनरेगा पोर्टल में किए एमआईएस सामग्री बिलो को अनेको बार डिलीट कर नये सिरे से दर्ज किया जाता हैं,जिससे पोर्टल में बिल की तिथि वर्तमान में प्रदर्षित होती हैं। जनवरी 2024 में जनपद पंचायत डिंडौरी द्वारा लगभग 2 करोड़ 50 लाख रू. का भुगतान मनरेगा परिषद के दिशा निर्देशों के विपरीत की गई हैं।

इन कार्यों का किया गया भुगतान

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: सामुदायिक कार्य अंतर्गत ग्राम पंचायत अमनी पिपरिया में पुलिया निर्माण कार्य का,औरई में एप्रोच रोड का, बिजौरी में मिनी परकोलेशन टैंक का, चिचरिंगपुर में चैकडेम का,दर्रीमोहगाॅव में पुलिया निर्माण का, देवरी में एप्रोच रोड़ का,दुहनिया में परकोलेशन टैंक का, इमलई में पुलिया का, गणेशपुर में पुलिया निर्माण एवं चैकडेम का ,हिनौता, कसईसोड़ा, केवलारी,कुईमाल, मेरमाल,नरिया,सारसताल,सरहरी समेत अन्य ग्राम पंचायतो में सिर्फ सामुदायिक कार्यो का भुगतान किया गया है।

जनपद सदस्य ने की कार्रवाई की मांग

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: जनपद सदस्य ने शिकायत करते हुए डिंडौरी जनपद पंचायत द्वारा मनरेगा परिषद के आदेश के विपरीत सामग्री मद भुगतान में की गई अनियमतिता एवं कमीशनखोरी की उच्च स्तरीय जाॅच कराने एवं समुचित कार्रवाई करने की मांग की है।

जानिए क्या बोले कलेक्टर ?

CEO and AAO in Dindori paid five percent commission: मामले को लेकर कलेक्टर विकास मिश्रा ने कहा कि बजट कम था,इसके वजह से भुगतान नहीं किया गया है,आज ही मेरी बात हुई है,जल्द मनरेगा के खाते में राशि डल जाएगी,इसके बाद भुगतान किया जाएगा। उक्त मामले की शिकायत हुई है। इसकी जानकारी मुझे नहीं हैं, जैसे ही शिकायत मिलती है, जिला पंचायत सीईओ के द्वारा जांच कराई जाएगी।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button