मध्यप्रदेश

डिंडौरी में ग्रामीणों को नहीं मिल रहा पानी टैंकर: उपसरपंच निजी काम में कर रहे उपयोग, लोगों ने की कार्रवाई की मांग

गणेश मरावी,डिंडौरी। मध्यप्रदेश के डिंडौरी जिले में उपसरपंच पर विधायक द्वारा प्रदाय की गई पानी टैंकर को निजी काम के लिये उपयोग करने का आरोप लगा है। दरअसल विधायक निधी से प्रत्येक ग्रामों में पानी टैंकर प्रदाय की गई है। जिससे ग्रामवासियों को पानी की समस्या को देखते हुये पानी की समूचित व्यवस्था किया जा सके।

साथ ही किसी सामाजिक,सांस्कृतिक, शादी समारोह, दशगात्र समेत कई कार्यक्रमों में पानी मुहैया कराने को लेकर ग्राम पंचायतों में दी गई है। जिसकी देखरेख करने की जिम्मेदारी सरपंच – सचिव को दिया गया है, लेकिन पंचायत के जिम्मेदारों के द्वारा स्वयं को अधिक लाभ पहुंचाया जा रहा है।

ऐसा ही जनपद पंचायत अमरपुर के ग्राम पंचायत नांदा का सामने आया है, जहां पर उपसरपंच शिवांक ठाकुर के द्वारा स्वयं का निजी काम कराने के लिये विधायक निधी की पानी टैंकर का उपयोग कर रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत के जिम्मेदार निजी काम में पानी टैंकर का उपयोग कर रहें है। जब ग्राम वासियों को आवश्यकता पड़ती है,तो उन्हें नही दिया जाता है। वहीं आरोप है कि दूसरे गांव में पानी टैंकर को किराया में दिया जाता है।

कहीं शिकायत करो, नहीं मिलेगा टैंकर

ग्रामीण अंतु यादव ने बताया कि उपसरपंच शिवांक ठाकुर के द्वारा अपने निजी काम में पानी टैंकर का उपयोग कर रहा है। पानी टैंकर को लेकर कहने पर कहा जाता है कि टैंकर नही मिलेगा। यह हमारे लिये है। ग्रामीणों के द्वारा शासन – प्रशासन से मांग किया गया है कि पानी टैंकर समस्त ग्रामवासियों को समय में उपलब्ध कराया जाये।

उपसरपंच बोला- टायर पंचर है

मामले को लेकर उपसरपंच शिवांक ठाकुर ने कहा कि टैंकर को बनवाने के लिये लाये थे। अभी घर में खड़ा किया गया है। पानी टैंकर का टायर पंचर हो गया था और दो बोल्ट खराब हो गया था। जिसे बनवाने के लिये लाया गया है।

इस मामले को लेकर सचिव प्रहलाद मरकाम ने कहा कि पानी टैंकर लीकेज हो रही थी। जिसे बनवाने के लिये उपसरपंच अमरपुर ले गये हैं, कोई ग्रामीण सामाजिक कार्यक्रम समेत कई कार्यक्रमों में ले जाते है,तो पानी ले जाने वाले को दो – तीन सौ रू लेते होगे।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button