मध्यप्रदेशस्लाइडर

लाडली बहनों के खाते में आए 1250 रुपए: नई सरकार में 1.57 लाख महिलाएं घटीं, मोहन सरकार ने बताए 3 वजह

Ladli Bahana Yojana: मध्य प्रदेश में नई सरकार के तहत पहली बार बुधवार 10 जनवरी को लाडली बहनों के खाते में 1250 रुपए डाले गए। भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने सिंगल क्लिक पर 1.29 करोड़ प्रिय बहनों के खाते में 1576.61 करोड़ रुपये ट्रांसफर किये।

नई सरकार में जनवरी में 1.57 लाख प्यारी बहनें कम हुईं। दिसंबर में 1 करोड़ 30 लाख 84 हजार 756 लाभार्थी थे। जनवरी में यह घटकर 1 करोड़ 29 लाख 26 हजार 835 हो गया। कुल मिलाकर देखा जाए तो अक्टूबर महीने तक 1 करोड़ 31 लाख 2 हजार 182 लाभार्थी थे, जो अब घटकर 1 करोड़ 29 लाख 26 हजार 835 रह गए हैं.

योजना में कुल 1 लाख 75 हजार 347 महिलाओं की संख्या घटी हैं। लाभार्थियों की संख्या में कमी के पीछे तीन कारण सामने आए हैं. पहला है मृत्यु, दूसरा है योजना का स्वैच्छिक परित्याग, तीसरा है 60 वर्ष से अधिक आयु।

वहीं, नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने सवाल उठाते हुए कहा है कि उन्होंने प्रदेश की लाखों प्यारी बहनों से झूठ बोलकर वोट हासिल किया और अब उनमें से 2 लाख को नौकरी से निकाल दिया गया है।

विभाग ने संख्या घटने की बताई 3 वजह

महिला एवं बाल विकास विभाग के संचालक डॉ. रामराव भोसले के अनुसार…

  • योजना शुरू होने के बाद कई पात्र महिलाओं की मौत हुई है। उनके नाम काटे गए। हालांकि यह संख्या कम है।
  • योजना में स्पष्ट प्रावधान है कि 60 साल तक की उम्र में ही योजना का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए साठ साल से अधिक उम्र होने पर कट आफ डेट एक जनवरी तय की गई है। इसलिए पिछले 6 माह में जो महिलाएं 60 साल की उम्र पूरी कर चुकी हैं, उनके नाम एक जनवरी 2024 की स्थिति में योजना से बाहर कर दिए गए।
  • जिनके अकाउंट नंबर बदल गए या जिन्होंने योजना का लाभ लेने से मना किया गया, उनके भी नाम सूची से बाहर हुए हैं।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button