जुर्मनौकरशाहीमध्यप्रदेशस्लाइडर

प्रधान आरक्षक ने मांगे 1 लाख घूस, निलंबित: 40 हजार रिश्वत लेते पकड़ाया, शराब कारोबारी और प्रॉपर्टी डीलर से जुड़ा है पूरा मामला

Lokayukta caught head constable taking bribe in Jabalpur: मध्यप्रदेश में जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने गुरुवार रात जिस प्रधान आरक्षक को 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा। वह 20 दिन से प्रॉपर्टी डीलर को धमका रहा था। वह कभी घर जाता तो कभी फोन पर उनसे एक लाख रुपये की मांग करता। वह कहता था कि अगर पैसे नहीं दिए तो 420 रुपए में केस कर दूंगा।

शराब कारोबारी राजेंद्र जायसवाल ने प्रॉपर्टी डीलर संदीप यादव के खिलाफ गोरा थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। इस शिकायत को दबाने के एवज में गोरा थाने में तैनात हेड कांस्टेबल उर्मिलेश ओझा पैसे की मांग कर रहा था। बाद में रिश्वत की रकम पहले 50 हजार, फिर 40 हजार रुपये तय हुई।

एसपी ने हेड कांस्टेबल को किया निलंबित

शुक्रवार को हेड कांस्टेबल उर्मिलेश को जबलपुर एसपी ने निलंबित कर दिया है। मामले में गोरा थाने के एक अन्य हेड कांस्टेबल राजेश गौतम का नाम भी सामने आ रहा है। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।

पुलिसकर्मी जमीन की रजिस्ट्री कराना चाहते थे

प्रॉपर्टी डीलर संदीप यादव ने बताया कि तिलहरी में मेरी 2 एकड़ 10 डिसमिल जमीन है। 2019 में शराब कारोबारी राजेंद्र जयसवाल ने आधा एकड़ जमीन का एग्रीमेंट किया था। मेरे कहने के बाद भी उसने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया। अब मैंने थाने में शिकायत दर्ज कराई और पुलिस से जमीन की रजिस्ट्री कराने को कहा।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button