जुर्मनई दिल्लीस्लाइडर

Security Forces in Mon: फायरिंग के बाद 11 लोगों की मौत, ग्रामीणों ने की आगजनी, सीएम ने दिए हाई लेवल जांच के आदेश

Security Forces in Mon: नागालैंड के मोन जिले से बड़ी खबर सामने आई है. सुरक्षा बलों की गोलीबारी में कम से कम 11 लोग मारे गए हैं. वहीं, मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच का वादा किया है और शांति की अपील की है. फायरिंग के बाद से इलाके में स्थिति काफी तनावपूर्ण है.

MP पंचायत चुनाव BREAKING: मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान, 3 चरण में होंगे चुनाव, जानिए कब-कब डाले जाएंगे वोट

सूत्रों के अनुसार घटना उस समय हुई जब कई ग्रामीण एक पिकअप ट्रक में सवार होकर अपने घर लौट रहे थे. वहीं, लोगों की बातों को देख आक्रोशित ग्रामीणों ने सुरक्षा बलों की गाड़ियों में आग लगा दी. आग लगने के कारण कई लोग घायल भी हुए. हालांकि प्रशासन की तरफ से अब मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने पूरे मामले पर उच्चस्तरीय जांच का वादा किया है साथ ही लोगों से शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है. 

BIG BREAKING: MP में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग का बड़ा फैसला, परिसीमन और आरक्षण के अनुसार ही होंगे चुनाव

मुख्यमंत्री ने आज सुबह में ही इस घटना पर दुख जताते हुए ट्वीट किया था. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, “मोन के ओटिंग गांव में नागरिकों की हत्या की दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और मैं इसकी अत्यंत निंदा करता हूं. उन्होंने पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी सहानुभूति व्यक्त करते हुए कहा कि मेरी कामना है कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. वहीं उन्होंने कहा था कि उच्चस्तरीय एसआईटी मामले की जांच करेगी और कानून के अनुसार न्याय होगा. सभी वर्गों से शांति की अपील करता हूं.”

अमितशाह ने जताया शोक

वहीं इस पूरी घटना पर भारतीय सेना के बयान में बताया गया कि लोगों की मौत से गुस्साए व्यक्तियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया जिससे कई जवान घायल हुए हैं. अमित शाह ने भी इतने लोगों की मौत पर शोक जताते हुए ट्वीट किया, “नागालैंड के मोन के ओटिंग में दुर्भाग्यपूर्ण घटना से शोकाकुल हूं. मैं जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. राज्य सरकार द्वारा गठित उच्च स्तरीय एसआईटी टीम इस घटना की जांच करेगी. ताकि दुखी परिवारों को न्याय दिलाई जा सके.” 

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button