छत्तीसगढ़ट्रेंडिंगदेश - विदेशमध्यप्रदेशस्लाइडर

Corona Alert: देश में फिर बढ़ रहा कोरोना वायरस, WHO ने किया सतर्क, मप्र-छग समेत कई राज्यों में अलर्ट जारी

WHO on Corona: भारत में कोरोना के केस फिर बढ़ने लगे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना के नए सबवेरिएंट जेएन.1 को लेकर अलर्ट किया गया है। WHO ने कहा कि कोरोना वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है। ऐसे में सभी देशों को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए और अपने देशों में कड़ी निगरानी रखनी चाहिए, ताकि कोरोना के नए सबवेरिएंट के प्रसार को रोका जा सके। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों में भी सरकार ने अलर्ट जारी किया है।

WHO ने सोशल मीडिया पर कोविड 19 पर संगठन की तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव का एक वीडियो भी साझा किया है। इस वीडियो में केरखोव श्वसन संबंधी बीमारियों के फैलने का कारण बताते हैं। यह भी बताया गया है कि इनसे बचाव के लिए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए।

SARS CoV-2 वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा

मारिया वान केरखोव ने भी सोशल मीडिया पर शेयर किए गए पोस्ट में लिखा कि दुनिया भर में सांस संबंधी बीमारियां लगातार बढ़ रही हैं। इनमें कोरोना वायरस के साथ-साथ राइनो वायरस, फ्लू, माइकोप्लाज्मा, निमोनिया और अन्य बीमारियां शामिल हैं। SARS CoV-2 लगातार खुद को बदल रहा है। कोरोना का सबवेरिएंट JN.1 भी फैल रहा है। केरखोव ने कहा कि श्वसन संबंधी बीमारियों के फैलने के कई कारण हैं, जिनमें से एक मौजूदा छुट्टियों का मौसम है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग यात्रा कर रहे हैं।

केरखोव ने कहा कि सर्दियों के मौसम में ज्यादातर लोग घर के अंदर ही समय बिताते हैं। ऐसे में वेंटिलेशन की कमी हो जाती है, इसलिए बीमारी फैलने का खतरा बढ़ जाता है। बता दें कि इन दिनों पश्चिमी देशों में क्रिसमस की छुट्टियां रहने वाली हैं। यही कारण है कि कोरोना या अन्य सांस संबंधी बीमारियों के फैलने की आशंका बनी रहती है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस फैल रहा है और वर्तमान में 68 प्रतिशत कोरोना मामले सबवेरिएंट JN.1 के कारण हैं।

कोरोना का नया वेरिएंट जिम्मेदार

इसकी वेबसाइट में कहा गया है कि BA.2.86 के एक प्रकार, JN.1 से संक्रमित मामले, वर्तमान में सिंगापुर में 60 प्रतिशत से अधिक COVID-19 मामलों के लिए जिम्मेदार हैं। जबकि BA.2.86 और इसके वेरिएंट को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 21 नवंबर 2023 को रुचि के वेरिएंट के रूप में वर्गीकृत किया गया है। MOH ने कहा कि वर्तमान में वैश्विक या स्थानीय स्तर पर कोई संकेत नहीं है कि BA.2.86 या JN.1 अन्य कोविड वेरिएंट की तुलना में अधिक संक्रामक हैं या अधिक गंभीर बीमारी का कारण बनता है।

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More
Back to top button