छत्तीसगढ़जुर्मस्लाइडर

चाकू मारकर युवक का कत्ल: नाबालिग समेत 5 आरोपी गिरफ्तार, जानिए क्यों दिया वारदात को अंजाम ?

Youth stabbed to death in Rajnandgaon: राजनांदगांव जिले में मामूली विवाद पर 26 वर्षीय युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई. पुलिस ने शनिवार को एक नाबालिग समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. मामला बसंतपुर थाना क्षेत्र का है.

राजनांदगांव सीएसपी अमित पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पेंड्री निवासी सोनू साइमन 19 सितंबर की रात करीब 11:30 बजे नंदई चौक की ओर घूमने गया था. उसे अकेला देखकर दीपेंद्र गौर उर्फ पासन, राहुल बैरागी, तरूण पवार, गौरव यादव और एक नाबालिग लड़के ने उसे घेर लिया. पहले सभी ने उसके साथ गाली-गलौज की, फिर जमकर पिटाई शुरू कर दी.

आरोपियों ने युवक के पेट में चाकू से कई वार किए

इसी बीच दीपेंद्र उर्फ मसान ने उसके पेट में चाकू से कई वार कर दिए. इससे वह लहूलुहान होकर गिर पड़ा. इसके बाद सोनू को मरा हुआ समझकर सभी आरोपी वहां से भाग गये. आसपास के लोगों ने युवक को लहूलुहान हालत में देखा और अस्पताल पहुंचाया. इसके बाद घायल युवक के परिजनों ने पुलिस को सूचना दी.

घायल युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई

यहां 22 सितंबर को इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई. पुलिस ने मामले में हत्या की धारा जोड़ दी और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. सीएसपी अमित पटेल ने बताया कि 23 सितंबर को नाबालिग समेत हत्या के सभी 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

इनमें से 3 आरोपी राज्य से बाहर भागने की फिराक में थे, जिन्हें रायपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ की मदद से पकड़ लिया गया. दो अन्य आरोपियों को राजनांदगांव शहर से ही गिरफ्तार किया गया है.

मामूली विवाद पर हत्या की योजना बनाई गई

सीएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. आरोपी राहुल बैरागी ने बताया कि 16 सितंबर को रेलवे स्टेशन पर उसका सोनू साइमन से विवाद हुआ था, जिसके बाद उसने अपने साथियों के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची.

ये मौका उन्हें 3 दिन बाद ही मिल गया. 19 सितंबर को उन्होंने युवक की हत्या कर दी. शनिवार को पुलिस ने सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.

लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं को देखते हुए शहर कोतवाली पुलिस ने शहर में धरपकड़ अभियान चलाया. पुलिस ने आपराधिक रिकॉर्ड वाले बदमाशों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की है.

Read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001 29 IAS-IPS

Advertisements
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: