जुर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

अनूपपुर में ’52 परी’ का पार्षद दीवाना: जुए के फड़ में पैसों की बारिश, तेजी से वायरल हो रहा VIDEO, किसकी काली करतूत छिपा रही खाकी ?

अनूपपुर। मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले में 52 परी के आशिकों की मंडी फिर सजने लगी है. पैसा डबल करने के लिए ठीहे चलने लगे हैं. जुआरियों का बेखौफ जमावड़ा लगने लगा है. फिर धड़ल्ले से खुले आसमान के नीचे पैसों की बारिश हो रही है, लेकिन पुलिस प्रशासन को खबर तक नहीं है. ऐसा हम नहीं ये वायरल वीडियो कह रहा है, जिसमें पार्षद जुआ खेलते नजर आ रहा है. ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

दरअसल, जिले में 52 परियों का खेल धड़ल्ले से चल रहा है. बताया जा रहा है कि 52 पारियों का यह खेल एक जनप्रतिनिधि द्वारा चलाया जा रहा, जिसका वीडियो भी वायरल हो रहा है. ये वायरल कोतमा थाने इलाके का है, जिसमें लोग फड़ लगाकर बैठे हैं. फड़ में पैसों की बारिश कर रहे हैं. 500-500 के नोट फड़ में फेंके जा रहे हैं.

तगड़ी सांठगांठ की आ रही बू

मिली जानकारी के मुताबिक यह वीडियो कोतमा क्षेत्र का बताया जा रहा है. इसमें कुछ लोग जुआ खेलते हुए नजर आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि जुए का फड़ पार्षद चला रहा है, जिसकी तगड़ी सांठगांठ है. इलाके में बेधड़क जुए की फड़ लगती है.

कौन खेल रहा जुआ ?

वायरल वीडियो में पार्षद भी दिखाई दे रहा है, जो भाजपा से टिकट न मिलने के बाद यह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीत कर आया था. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वीडियो में जो पार्षद दिख रहा है, उसका नाम दीपू सोनी है, जो वार्ड नंबर एक से पार्षद है. बताया जा रहा है कि पार्षद बीजेपी समर्थित है.

क्या बोले थाना प्रभारी ?

कोतमा थाना प्रभारी अजय बैगा ने बताया कि कोतमा थानांतर्गत जुआं और अन्य अवैध कार्य पूरी तरह बंद हैं. यह वायरल वीडियो 8 से 10 महीना पुराना है. हम लगातार घूम कर इस तरह के अवैध गतिविधियों पर कार्रवाई कर रहे हैं.

बड़ा सवाल ?
अगर ये वीडियो 8-10 महीना पुराना है, तो क्या इस पर कोई कार्रवाई हुई या फिर अंदरखाने में मामला निपट गया. बहरहाल, अगर कार्रवाई नहीं हुई, तो सवाल उठना लाजमी है कि क्या इसी तरह उस इलाके में जुआरियों का जमावड़ा लगता है, जिसे बिना कार्रवाई के ही आपस में निपटा लिया जाता है. बता दें कि MPCG टाइम्स इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button