जुर्मनई दिल्लीस्लाइडर

SP साहब जुर्म के रास्ते कानून! कोतमा ​में SDM की प्रताड़ना से तंग आकर युवक ने की सुसाइड की कोशिश, ​कुर्सी के नशे में चूर अफसर पर कार्रवाई की मांग

शैलेंद्र विश्वकर्मा, अनूपपुर: कोतमा थाना अंतर्गत एसडीएम के घर में हुई गहनों की चोरी को लेकर कोतमा पुलिस ने पूरन केवट उर्फ सन्नी को 3 दिन से थाने में बुलाकर लगातार पूछताछ की जा रही थी. इसके बाद पूरन के घर पारिवारिक समस्या और कलह उत्पन्न हो गई. जिसको लेकर पूरन केवट ने रविवार की दोपहर आत्महत्या करने की कोशिश की.

यह है मामला
4 दिन पूर्व एसडीएम कोतमा के यहां उनकी पत्नी का बहुमूल्य आभूषण गुम हो गया, जिसको लेकर एसडीएम ने थाने में शिकायत की. गहने चोरी को लेकर पुलिस ने जांच के लिए घर पर काम कर रहे नौकर पूरन को संदेह के तौर पर थाना ले आई. गहने की चोरी को लेकर पूछताछ की गई. जिसके बाद रविवार की सुबह पूरन केवट के बहन के यहां पुलिस पहुंची.

इस बीच पूछताछ और घर की तलाशी ली गई. इसके बाद से पूरन की बहन के परिवार में रिश्तो में दरार पड़ना चालू हो गया. इससे मानसिक रूप से प्रताड़ित होकर पूरन ने आत्महत्या की कोशिश की. आत्महत्या के प्रयास के दौरान मोहल्ले के कुछ लोगों ने पूरन को आत्महत्या के प्रयास से बचाया और उसे लेकर खाने पहुंच गए.

एसडीएम द्वारा पद का दुरुपयोग कर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लिखित में कोतमा थाने में रामरति केवट द्वारा ज्ञापन दिया गया. वहीं साथ में पूरन केवट को आत्महत्या के प्रयास से बचा कर लाए हुए युवा और परिवार ने भरे बरसात में SDM के खिलाफ प्रदर्शन की और कार्रवाई की मांग की.

कोतमा थाना प्रभारी के समझाइश और आश्वासन के बाद विरोध प्रदर्शन बंद हुआ. पूरन केवट की माता का कहना था कि अगर कहीं बेटे ने गलत किया है तो उसके खिलाफ FIR दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाए. अगर नहीं किया है तो मामले को पुलिस तुरन्त खत्म करे ऐसे टोज रोज प्रताड़ित न करे, इससे इलाके में बदनामी हो रही है, जिससे बेटे को घातक कदम उठाना पड़ रहा है.

गौरतलब है की गहनों की चोरी के इल्जाम में घर में काम करने वाले नौकर पूरन केवट को संदेश के तौर पर लगातार चार दिनों से प्रताड़ित करने का SDM पर आरोप है. अनुभागीय अधिकारी पर आरोप है कि अपने पद का दुरुपयोग करते हुए जबरन आरोप लगाकर प्रताड़ित किया जा रहा है.

साथ ही उनके रिश्तेदारों में छापामार कार्रवाई की जा रही है, जिससे पारिवारिक कलह उत्पन्न हो रही है. ऐसे में मजबूरन युवक आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो गया. अब इन आरोपों के बीच कानून व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button