जुर्ममध्यप्रदेश

घर के ‘चिराग’ ने जला दिया घर: बेटे की इस हरकत से तंग आकर मां-बाप ने खा लिया जहर, एक साथ निकली माता-पिता की अर्थी

देवास। इकलौते चिराग से घर में लगी आग में पूरा परिवार जलकर खाक हो गया, जो भी इस हृदय विदारक घटना के बारे में सुना, सन्न रह गया क्योंकि इकलौते बेटे (Dewas Couple Suicide) की प्रताड़ना (Son Creates Unnecessary Stress) से तंग आकर माता-पिता (Husband Wife Suicide) ने जहर खाकर जान दे दी.

ये घटना देवास के पुंजापुरा की है. जहां अपने इकलैते बेटे से (Son Torture His Parents) परेशान हो चुके माता-पिता ने मजबूरन जहर खा लिया. रिश्तेदारों-पड़ोसियों की मानें तो बेटा ऑनलाइन सट्टा (Online Gambling), ऑफलाइन गैम्बलिंग का आदी था और पिता की गाढ़ी कमाई को बार-बार दांव पर लगाकर हार जाता था.


जानकारी के मुताबिक पुंजापुरा निवासी 50 वर्षीय ताराचंद राजपूत (Tarachand Rajpoot) व उनकी 45 वर्षीय पत्नी ममता राजपूत अपने इकलौते बेटे गोपाल की प्रताड़ना से तंग थे, जिसके चलते उन्होंने एकसाथ जान (Husband Wife Suicide) देने का फैसला किया और दोनों जहर खाकर मौत की नींद सो गए. उपचार के लिए दोनों को इंदौर ले जाया गया, पर बीच रास्ते में ही दोनों की मौत हो गई. पोस्टमार्टम कराने के बाद शाम को पुंजापुरा में दोनों का अंतिम संस्कार किया गया.


बेटाबताया जा रहा है कि गोपाल अपनी गलत आदतों की वजह से हमेशा कर्ज में डूबा रहता था और कर्ज के दलदल से निकलने के लिए दुकान-मकान-बैंक जहां से पैसा मिलने की संभावना रहती, वहां से रुपए निकालकर जुए-सट्टे में उड़ा देता था. ताराचंद व ममता ने अपने बेटे को सुधारने की बहुत कोशिशें की, लाखों रुपए बर्बाद करके भी उसे सुधार नहीं पाये.

उसे काम-धंधे में लगाने का प्रयास भी किया, लेकिन ये सारी कोशिश बेकार गई. अपने कपूत बेटे के आवारापन व समाज में हो रही बदनामी के चलते दंपति ने जहर खाकर अपनी जान (Husband Wife Suicide) दे दी. वहीं पुलिस इस मामले की जांच की बात तो कह रही है, बाकी सवाल पर चुप्पी साध लेती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button