देश - विदेशसियासतस्लाइडर

UP में किसानों की महापंचायत: उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा- जैसे शाहीन बाग में हुआ, वैसे यहां भी टांय-टांय फिस्स हो जाएगा किसान आंदोलन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy Chief Minister Keshav Prasad Maurya) ने किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान दिया. केशव मौर्य ने कहा कि किसान आंदोलन में किसान नहीं, बल्कि सपा बसपा कांग्रेस के लोग हैं. जैसे शाहीनबाग में आंदोलन टांय-टांय फिस्स हुआ था, वैसा ही हाल इस किसान आंदोलन का भी होगा. मौर्य ने कहा कि अभी चुनाव होने हैं. ऐसे में पता लग जाएगा कि जनता किसके साथ है. दरअसल डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य रविवार को कानपुर पहुंचे थे. मौर्य ने प्रबुद्ध सम्मेलन के मंच से ये बात कही. केशव प्रसाद का ये बयान ऐसे वक्त पर आया, जब मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत में लाखों किसान हिस्सा लेने पहुंचे हैं.

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद ने कहा कि भाजपा का इतिहास देखेंगे तो प्रबुद्ध सम्मेलन सिर्फ बीजेपी के द्वारा किया जाता है. ये जाति सम्मेलन नहीं होता. ये शिक्षक, व्यापारी कोई भी जो समाज में काम करते हैं, वे प्रबुद्ध है. यह हम हर विधानसभा में कर रहे हैं. उन्होंने जम्मू कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि वहां पहले एक देश दो विधान था. अब एक देश एक विधान हो गया. राजीव गांधी कहते थे कि योजनाओं का 15 पैसा गरीबों तक पहुंचता है. जनधन खाते खुलने से भ्रष्टाचार कम हुआ.

मोर्य ने कहा कि ये हम नहीं कहते कि हमने सब काम खत्म कर दिया, लेकिन सरकारी नौकरियों में भ्रष्टाचार खत्म किया है. भ्रष्टाचार की लड़ाई लड़ने में बाधाएं आती थीं. हमने इन्हें दूर कर दिया. 2022 के चुनाव आ रहे हैं. विपक्ष एक होने लगा है. विपक्षी पहले मोदी सरकार के खिलाफ कहते थे, पीएम नही बनने देंगे. सपा बसपा एक हो गए. लेकिन तब भी हमने उन्हें पछाड़ दिया है. उन्होंने कहा कि कुछ नेता तालिबान पर भाषण देते हैं. भारत मे रहकर तालिबान की भाषा बर्दाश्त नहीं की जा सकती है.

केशव मौर्य ने कहा कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार प्रत्येक दिन विकास के नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है. जनता के आशीर्वाद और अपार जनसमर्थन से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में हमारी पार्टी फिर से 300 से अधिक सीटों पर कमल खिलाएगी.

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में रविवार को कृषि कानूनों के विरोध में किसान महापंचायत हुई. इस महापंचायत में देश के कोने-कोने से लाखों किसान हिस्सा लेने पहुंचे. इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत ने केंद्र और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा. टिकैत ने कहा कि राज्य में वे ऐसी 18 महापंचायत करेंगे.

टिकैत ने कहा कि अभी तक गन्ने का एक भी रुपया नहीं बढ़ाया गया. उन्होंने पूछा कि क्या योगी सरकार कमजोर है, जो एक रुपया नहीं बढ़ाया. टिकैत ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जमीन पर दंगा करवाने वालों को नहीं रहने देंगे. हम किसी भी कीमत पर आंदोलन खत्म नहीं करेंगे. प्रधानमंत्री ने कहा था कि 2022 से फसल में दाम दोगुने होंगे. 3 महीने बचे हैं, हम इसका प्रचार करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button