जुर्ममध्यप्रदेशस्लाइडर

मुझे माफ कर दो पापा: 11वीं की छात्रा ने खुद को लगाई आग, सुसाइड नोट में 5 लोगों का नाम लिख बोली- मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर के रांझी निवासी 11वीं कक्षा की छात्रा ने मंगलवार सुबह खुद को आग लगा ली. आग से करीब 95 फीसदी झुलसी छात्रा जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही हैं. उसे इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है. छात्र के पास से सुसाइड नोट भी मिला है. जिसमें उसने घटना के लिए तीन महिलाओं समेत पांच लोगों को जिम्मेदार ठहराया है. पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है. मुख्य आरोपी अनुराग चौधरी की तलाश की जा रही है.

चोरों की हिम्मत तो देखिए: इधर IPS की हो रही थी शादी, उधर चोरों ने नगदी और जेवर कर दिया पार

पुलिस ने बताया कि मस्ताना चौक के पास केवट मोहल्ले की छात्रा अभिलाषा जैन मंगलवार सुबह घर पर थी. उनके पिता मुकेश जैन ऑटो चलाने गए थे. तभी उसके घर से धुआं उठने लगा. अभिलाषा की चीखें पड़ोसियों ने सुनीं. जिसके बाद घटना का पता चला और उसे अस्पताल ले जाया गया. प्रभारी एसपी रोहित काशवानी ने घटना की जांच के निर्देश दिए हैं.

बताया जाता है कि अभिलाषा सोमवार शाम को रांझी थाने गई थी. जहां उन्होंने पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की. वह किन परिस्थितियों में रांझी थाने गई थी, यह पता नहीं चल पाया है. काफी देर तक थाने में रहने के बाद वह घर लौट आई. इधर बताया जा रहा है कि अनुराग चौधरी ने सितंबर में उसके पिता मुकेश के खिलाफ रांझी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. संभवत: इसी मामले को लेकर अभिलाषा थाने गई थी.

MP में मतदाताओं को लुभाने शराब का सहारा: पंचायत चुनाव से पहले पुलिस ने पकड़ी अंग्रेजी शराब, एक आरोपी गिरफ्तार

आग की घटना के बाद सक्रिय हुई पुलिस टीम ने सुसाइड नोट में जिन लोगों के नाम लिखे हैं, उनकी तलाश शुरू कर दी है. संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर चार लोगों को हिरासत में लिया गया है. जबकि अनुराग चौधरी फरार बताया जा रहा है. पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन के आधार पर उसका पता लगा लिया. लेकिन मदन महल इलाके में उसने मोबाइल स्विच ऑफ कर दिया.

सुसाइड नोट में लिखा है

मैं अभिलाषा जैन आज आत्महत्या करने जा रही हूं. मेरी मौत के लिए अनुराग चौधरी, वरुण खन्ना, आशा खन्ना, तन्वी केवट और ममता केवट जिम्मेदार हैं. इन लोगों ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी है. इससे मेरा घर से निकलना मुश्किल हो गया है. मेरे घर में लड़के घूमते हैं. जब मैं रांझी थाने में शिकायत दर्ज कराने गई, तो मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई. मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं ताकि मेरी वजह से मेरी बहनों का जीवन बर्बाद न हो. मुझे माफ कर दो पापा.

डिंडोरी में पिटाई का VIDEO VIRAL: नशे में धुत युवक ने रोजगार सहायक की कर दी पिटाई, वैक्सीनेशन में लगी महिलाओं से भी की बदतमीजी

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button