जुर्मस्लाइडर

अंधविश्वास का बहशी रूप: डायन बताकर पहले महिलाओं को पीटा, फिर काट खाया होंठ

गुमला। झारखंड के गुमला में अंधविश्वास चरम पर है. जागरूकता की कमी के कारण ग्रामीण अंचलों में दिन प्रतिदिन मारपीट और हत्या जैसी जघन्य घटनाएं घटती जा रही हैं. ताजा मामला जिले के घाघरा थाना क्षेत्र के गम्हरिया गांव का है.

गैंगरेप की खौफनाक वारदात: 17 साल की लड़की से 17 हैवानों ने 4 दिन तक किया गैंगरेप, किडनैप कर ले गया था कैब ड्राइवर

जहां गांव के 45 वर्षीय टेम्बो उरांव और बिपत उरांव को डायन-बिसाही के आरोप में उनके परिजन थडुपा उरांव, बंधो देवी, चामू उरांव व रीना उरांव ने गंभीर रूप से घायल कर दिया. बाद में ग्रामीणों ने दोनों को छुड़ा लिया.

‘सुसाइड फॉरेस्ट’ की डरावनी कहानी: धरती पर मौजूद है एक ऐसा जंगल, जहां लोग कर लेते हैं आत्महत्या !

पीड़िता बिपत उरांव ने बताया कि परिजनों ने पहले उसे डायन बताकर उसकी जमकर पिटाई की, फिर उसके मुंह में दांत से काट दिए. जान से मारने की धमकी भी दी. पूरे मामले को लेकर पीड़िता की ओर से घाघरा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है. पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है.

MP CRIME BREAKING : बाजार से लौट रहे BJP नेता की बीच सड़क पर गोली मारकर हत्या, बाइक लूट कर भी ले गए हत्यारे

एसएचओ अभिनव कुमार ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिकी दर्ज कर जांच की जा रही है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. विच बिसाही एक अंधविश्वास है. इस तरह के आरोप लगाकर उत्पीड़क को किसी भी तरह से बख्शा नहीं जाएगा.

पति का बेरहमी से कत्ल: शराबी पत्नी ने पति को उतारा मौत के घाट, सलाखों के पीछे हत्यारिन, 2 बच्चों के सिर से उठा मां-बाप का साया

जिले में डायन-बिसाही के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. मारपीट से लेकर हत्या तक की घटनाएं सामने आती रहती हैं. कुछ मामलों में कार्रवाई की जाती है. कुछ मामलों में शिकायत थाने तक नहीं पहुंचती है. शासन और जिला प्रशासन के स्तर पर कोई पहल नहीं हो रही है. इसलिए लोग अंधविश्वास के जाल में फंस गए हैं.

2 आदिवासी लड़कियों के साथ 10 लोगों ने किया गैंगरेप: दशहरा कार्यक्रम देख लौट रही बहनों का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म, एक आरोपी ने की आत्महत्या

read more- Landmines, Tanks, Ruins: The Afghanistan Taliban Left Behind in 2001

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button